पूज्य जया किशोरी जी का सम्पूर्ण जीवन परिचय

– Jaya Kishori Biography

आज के समय में किसी को यकीन नहीं होता की इतनी छोटी सी उम्र में जिस उम्र में लोग पढ़ाई पूरी करते है और मौज-मस्ती करते है उस उम्र की लड़की कहा से कहा पहुँच गई है.

भक्ति और अध्यात्म के मार्ग पर चल कर जया किशोरी जी ने आज लाखों लोगों को भक्ति का मार्ग दिखा दिया है.

सच बताऊँ तो मुझे खाटू श्याम जी के बारे में जरा सा भी नहीं पता था। एक दिन YouTube चलाते चलाते जया किशोरी जी का भजन सामने आ गया “मेरा आप की कृपा से सब काम हो रहा है” तभी से में जया किशोरी जी के सारे भजन गीत सुनता आ रहा हूँ.

जया जी के बहुत सारे भजन है खाटू श्याम जी के गाने हैं जैसे की श्री कृष्ण जी पर भजन है, शिव तांडव शिव आदि है.

जया किशोरी जी का जीवन परिचय कम शब्दों में

जया किशोरी जी एक कथावाचक तथा भजन गायिका है। वो भगवत गीता, नानी बाई रो मायरो, रामायण आदि जैसे आयोजन करती है.

जया किशोरी जी ने बहुत ही कम आयु में अपनी मधुरवाणी से करोड़ों लोगों को आकर्षित किया हैं।

Jaya Kishori Ji ने अपनी सम्मोहन आकर्षण वाली वाणी से नानी बाई रो मायरो के गीत गाती हैं।

तब सुनने वाले श्रोता झूमने लग जाते है जैसे की “टूटी गाड़ी” भजन,“गाड़ी को संभाले रे बाबा जानो है नगर अंजार” जया किशोरी जी के मुख अरविंद से ऐसा भजन सुनने के आनंद ही अलग आता है.

जया किशोरी जी का भगवान के प्रति भक्ति व प्रेम है जिसके चलते वो आज कामयाबी के उस शिखर तक है जहां तक पहुँचना बहुत ही मुश्किल है.

जया किशोरी जीवनी से लोगों को प्रेरणा मिलती है छोटे बच्चों को सही रास्ता मिलता है जिससे वो यह सोचते है कि हमारी उम्र की यह लड़की इतना कुछ कर रही है तो हमें भी कुछ करना है अपने जीवन में।

मैं आपको जया किशोरी जी की जीवनी बताने जा रहे हैं.

Jaya Kishori Ji Biography in Hindi

Jaya Kishori Biodata in Hindi
पूरा नाम : जया शर्मा
जन्म तिथि : 13 जुलाई, 1995
जन्म स्थान : सुजानगढ़, राजस्थान (भारत)
स्थायी पता : कोलकाता
पिता का नाम : पूज्य राधे श्याम जी हरितपाल (शिव शंकर शर्मा)
माता का नाम : पूज्य गीता देवी हरितपाल
बहन का नाम : चेतना शर्मा
भाई : अज्ञात

Jaya Kishori Ji History in Hindi

Jaya Kishori Wiki
Jaya Kishori Wikipedia

जया किशोरी जी 2019 के अनुसार 24 वर्ष की हो गयी है। जया किशोरी जी का पूरा नाम जया शर्मा है, इनका जन्म 13 जुलाई 1995 को राजस्थान के गांव सुजानगढ़ में एक गौड़ ब्राह्मण परिवार में हुआ था।

जया किशोरी जी के पिता का नाम शिव शंकर शर्मा (राधे श्याम हरितपाल) और माता का नाम गीता देवी हरितपल है।

जया किशोरी जी के सभी भाई बहनों में बड़ी है। पिता के काम में दिलचस्पी न दिखाते हुए उन्होने बचपन से ही भजन गीत गए है.

जया किशोरी जी का मन बचपन से ही भगवान की भक्ति में लग गया था। बचपन में उनके घर में हनुमान जी का सुंदरकांड पढ़ा जाता था।

धीरे धीरे उनको कीर्तन करना, भजन गाना और जागरण में भजन गीत गाना आरंभ हुआ जिसके चलते वो आज भारत के अलग अलग राज्य में गीत भजन गाती है और भगवान की महिमा फैला रही है.

जया किशोरी जी के घर में शुरू से ही भक्तिमय माहौल होने से इनकी भगवान की कथा और भजनों में रूचि बढ़ गयी.

Jaya Kishori Ji की पढ़ाई उनके स्थायी पते से हुई उनके घर के पास ही उनकी स्कूली पढ़ाई कोलकाता के महादेवी बिड़ला वर्ल्ड एकेडमी और इसके बाद उन्होंने बी.कॉम (B.com) की पढ़ाई पूरी की है.

जया किशोरी जी ने मात्र 9 वर्ष की आयु में संस्कृत में लिंगाष्टकम्, Shiv Tandav Stotram, रामाष्टकम्, मधुराष्टकम्, श्रीरुद्राष्टकम्, शिव पंचाक्षर स्तोत्र, दारिद्रय दहन शिव स्तोत्र आदि कई स्तोत्रों को गाकर हजारों श्रोताओं को प्रभावित किया है।

10 साल की आयु में जया किशोरी जी ने अमोघफलदायी सम्पूर्ण सुन्दरकाण्ड गाकर लाखों लोगों के दिलों में विशेष जगह बना ली।

लोगों को यकीन ही नहीं हो पता था की इतनी छोटी सी उम्र की लड़की इतना अच्छा भजन कैसे गा सकती है.

जया किशोरी का जीवन परिचय बहुत ही सादा है। जिस उम्र में लड़कियां शौक श्रृंगार घूमना फिरना नाचना गाना पसंद करती है उस उम्र में जया जी भगवान का रास्ता पकड़ा और भगवान की भक्ति में अपनी खुशी को देखा.

जया किशोरी जी के मुख पर जो चमक है वो किसी आयुर्वेदिक औसधि का फल नहीं है वो बचपन से ही तेज चमक वाले मुख को लेकर जन्मी थी उनका जन्म एक ब्राह्मण परिवार में हुआ है शायद इसकी वजह से ही उनके मुख पर इतना तेज रहता है.

किशोरी जी की सुंदरता साफ बताती है की वो किसी देवी का रूप है इसलिए कुछ लोग उन्हें देवी, पूज्य जया, साध्वी कहते है, देवी तक तो ठीक है मगर वो कोई साध्वी नहीं है वह बस एक आम साधारण लड़की है ऐसा जया किशोरी जी का कहना है.

जया किशोरी जी को साधारण से सादा रहना सादे कपड़े प्रयोग करना सादा जीवन जीना पसंद है। जया किशोरी का खाटू श्याम जी में बहुत बड़ा विश्वास है जिसकी वजह से वो हर साल राजस्थान में खाटू श्याम जी के मंदिर जरूर जाती है पूरे परिवार के साथ.

जया किशोरी जी ने ही खाटू श्याम जी का रास्ता मुझे भी दिखाया है.

ऐसा कहा जाता है कि जया किशोरी जी जब भी खाटू श्याम जी जाती हैं तो पंचायती धर्मशाला में रहती है और दो तीन दिन जब तक रहती है तब तक हर शाम भजन गीत आदि से भक्ति का माहौल बनती हैं.

जया जी बहुत बड़ी भजन गायिका बन चुकी है। जया बचपन में क्लासिकल नृत्य श्री कृष्ण जी के लिए किया करती थी।

उनके परिवार की परवरिश के कारण ही उनका रुझान भगवान श्री कृष्ण की तरफ हुआ और श्री कृष्ण जी की कृपा से आज जया किशोरी को पूरी दुनिया में कथावाचक के नाम से जाना जाता है.

Jaya Kishori Ji Marriage & Family Information

  • जया किशोरी जी के पति, विवाह तथा पारिवारिक जीवन

जया किशोरी जी के आए दिन इंटरव्यू होते ही रहते है। जया किशोरी जी के 2018 में हुए इंटरव्यू में उन्होने यह बताया था की वे कोई साधु या सन्यासी नहीं हैं, मात्र एक सामान्य महिला है।

उन्होंने कहा की उनकी अभी शादी नहीं हुई है, इसमें बहुत देर है और वह यह कभी भी नहीं चाहेंगी कि शादी के कारण उनकी कथा प्रभावित हो।

जया किशोरी जी की कथा छोड़कर शादी नहीं करना चाहती है। इनके गुरू पं. श्री गोविन्दराम जी मिश्र जी ने इनके भगवान श्री कृष्ण के प्रति प्रेम को देखते हुए जया किशोरी जी को “किशोरी जी” (Kishori Ji) की उपाधि दी।

जया जी कहती है कि उन्हें अधिक समय तक अपने गुरु का सानिध्य नहीं मिल सका जिसका उन्हे दुख है।

जया किशोरी जी की कथाओं में जो धन या फिर आप इसे चन्दा भी कह सकते है वो सारा का सारा धन सारा चन्दा, जया किशोरी जी की उदयपुर की एक संस्था नारायण सेवा संस्थान को दान के रूप में दे देती है।

यह संस्था दिव्यांग और अपंग लोगों के लिए अस्पताल चलाती है तथा गरीबों की सेवा करती है। नारायण सेवा संस्थान द्वारा कई गौशालाओं का भी संचालन किया जाता है।

जया किशोरी जी ऐसे ही बहुत सी संस्थाओं से जुड़ी हुई है जिनमे कई ऐसी संस्थाएं भी है जो की अनाथ युवकों और युवतियों को काम देती है और अपसंग या फिर असहाय लोगों की शादियाँ भी कराती है.

दोस्तों यकीन मानिए जया किशोरी जी किसी भगवान का ही अंश है जो सभी लोगों के लिए इतना सोचती है।

जया किशोरी जी के गाने से लोगों का मन खुश तो था ही लेकिन उनके इन कामों की वजह से बहुत से लोग आज जया किशोरी जी को अपना गुरु मानते है.

जया किशोरी जी को सादा जीवन जीना पसंद है, जया किशोरी जी का कहना है कि वर्तमान में तकनीक के चलते बच्चों का जीवन मोबाइल, इंटरनेट तथा लैपटॉप तक ही सिमित हो गया है, इससे बच्चों में संस्कारों की कमी आ जाती है और बाद में इसका माता पिता को बहुत ही पछतावा होता है.

आजकल के युवाओं युवतियों द्वारा बुजुर्गों और माता-पिता का सम्मान न करना उनका निरादर करना, साधु तथा सन्यासियों का अनादर करना, सामाजिक मर्यादाओं को तोड़ना। इस बात का संकेत हैं कि हम कहीं न कहीं अपने संस्कारों को भूलते जा रहे है.

जया किशोरी जी (Jaya Sharma Kishori) जी का कहना है की जिस उम्र में लड़कियां घूमना-फिरना तथा श्रृंगार करना पसंद करती है, उस उम्र सबको भगवान की भक्ति में आ जाना चाहिए, उनका मानना हैं कि भगवान की भक्ति ही जीवन की सही दिशा है।

किशोरी जी का कहना है कि अगर कोई भगवान की भक्ति करना चाहता है तो इसके लिए यह जरूरी नही है की वो साधू या संत ही बने बल्कि वो केवल अपने भगवान की दिखाई हुई राह पर चल कर भी अपने भगवान की भक्ति कर सकता है.

जया किशोरी जी का भगवान खाटू श्याम जी में बहुत विश्वास है, जिसकी वजह से जया किशोरी जी जब भी समय मिले वो खाटूश्यामजी के यहां चली जाती है और वह हर साल राजस्थान में अपने पूरे परिवार के साथ राजस्थान में खाटू श्याम जी के मंदिर जरूर जाती है.

जया किशोरी जी जब भी खाटू श्याम जी के मंदिर राजस्थान जाती है तब वह अपने परिवार के साथ पंचायती धर्मशाला में रहती है।

इस दौरान दो-तीन दिन जया किशोरी जी के सानिध्य में पूरा माहौल भक्तिमय हो जाता है।

जया किशोरी जी अपने बचपन में भगवान श्री कृष्ण के लिए क्लासिकल नृत्य करती थी, उनका पालन पोषण ऐसे परिवार में हुआ जो कृष्ण भक्ति में बहुत ही अधिक भरोसा करता है.

आज पूरे भारत में और बाहर के देशों में Jaya Sharma Kishori जी के नाम की गूंज गूंजती है ऐसी कथा वाचक तथा भजन गायिका के नाम से प्रसिद्ध है.

Related Searches:

  1. जया किशोरी का जीवन परिचय
  2. जया किशोरी जी की जीवनी
  3. जया किशोरी जी भजन
  4. जया किशोरी जी की शादी
  5. Jaya Kishori Biography in Hindi
  6. Jaya Kishori Age
  7. Jaya Kishori Wikipedia
  8. Jaya Kishori Ji Date of Birth
  9. Jaya Kishori ji Biodata in Hindi
  10. Jaya Kishori Ji Katha
  11. Jaya Kishori ji husband Name

Jaya Kishori Best Bhajan in Hindi

जया किशोरी जी के भजन – (Jaya Kishori Songs) – ( Jaya Kishori Most Popular Songs) आपको यूट्यूब पर आसानी से मिल जायेंगे।

  • राधिका गोरी से बृज की छोरी से
  • काली कमली वाला
  • हारे का तू है सहारा सँवारे
  • ब्रह्म मुरारी सुरार्चिता लिंगम निर्मल भाषित
  • अच्युतम केस्वाम कृष्ण दामोदरम
  • गाड़ी में बिठा ले रे बाबा
  • सबसे ऊँची प्रेम सगाई
  • हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे रामा हरे रमा
  • लिंगाष्टकम मृत्युंजय जाप
  • आज हरी आये विदुर घर
  • माँ बाप को मत भूलना
  • मेरा आपकी कृपा से सब काम हो रहा है
  • कृष्ण गोविन्द गोविन्द गोपाल नंदलाल
  • जगत के रंग क्या देखू
  • हम तुम्हारे है प्रभु जी
  • एक नज़र कृपा की कर दो
  • छाप तिलक सब दीन्ही रे मोसे नैना लगाई के
  • मेरी लगी श्याम संग प्रीत ये दुनिया क्या जाने
  • एक दिन वो भोले भंडारी
  • राधे तेरे चरणों की धूल मिल जाए
  • इतनी खत्री करवावे ईगो काई लगे
  • टूटेली गाड़ी
  • मीठे रस से भरियो री राधा रानी लागे
Jaya Kishori Quotes in Hindi – जया किशोरी जी के अनमोल विचार

1. जो बदलता है वो आगे बढ़ता है।


2. बीच रास्ते से लौटने का कोई फायदा नहीं क्योंकि लौटने पर आपको उतनी ही दूरी तय करनी पड़ेगी जितनी दूरी तय करने पर आप लक्ष्य तक पहुँच सकते है।


3. जीतने वाला ही नहीं बल्कि कहां पर हारना है, ये जानने वाला भी महान होता है।


4. महानता कभी न गिरने में नहीं बल्कि हर बार गिरकर उठ जाने में है।


5. ये क्या सोचेंगे? वो क्या सोचेंगे? दुनिया क्या सोचेगी? इससे ऊपर उठकर कुछ सोच, जिन्दगीं सुकून का दूसरा नाम हो जाएगी।


6. “किसी ने कहा अच्छे कर्म करो तो स्वर्ग मिलेगा, मै कहती हूँ माँ बाप की सेवा करो धरती पे ही स्वर्ग मिलेगा।”


7. अनुभव एक कठोर शिक्षक है क्योंकि वो परीक्षा पहले लेता है और पाठ बाद में सिखाता है।


8. महानता कभी न गिरने में नहीं बल्कि हर बार गिरकर उठ जाने में है।


9. काल करे सो आज कर, आज करे सो अब – सबकी आयु निश्चित है।


10. मुसीबतों से भागना, नयी मुसीबतों को निमंत्रण देने के समान है।


11. जब तक आप अपनी समस्याओं एंव कठिनाइयों की वजह दूसरों को मानते है, तब तक आप अपनी समस्याओं एंव कठिनाइयों को मिटा नहीं सकते।


12. “मनुष्य तब तक नए महासागरों की खोज नहीं कर सकता,
जब तक कि उसे अपना किनारा छोड़ ने की हिम्मत न हो।”


13. छोटी सी ज़िंदगी है,
हर बात में ख़ुश रहो।
कल किसने देखा है
बस अपने आज में ख़ुश रहो।


14. “ऐसी कोई मंजिल नहीं है,
जहाँ पहुँचने का कोई रास्ता न हो!”


15. सफलता हमारा परिचय दुनिया को करवाती है और असफलता हमें दुनिया का परिचय करवाती है।


16. हमारी उदासी के पीछे क्या कारण है?


17. सबसे बड़ा उपहार जो आप दूसरों को दे सकते हैं , वह बिना शर्त प्यार और स्वीकृति का उपहार है।


18. विश्वास में वह शक्ति है जिससे उजड़ी हुई दुनिया में प्रकाश लाया जा सकता है।


19. “जीवन अपने आप को खोजने के बारे में नहीं है।
जीवन अपने आप को बनाने के बारे में है।


20. तुझको फिरसे जलवा दिखाना ही होगा,
अगले बरस आना है, आना ही होगा।


21. ख़ुद को बदलो,
देश बदल जाएगा।


22. हम बाकी सभी रिश्तों के साथ पैदा होते हैं पर दोस्ती ही एक मात्र रिश्ता है जिसे हम खुद बनाते हैं।


23. “परिस्थितियां कभी समस्या नहीं बनती, समस्या इस लिए बनती है,
क्योंकि हमें उन परिस्थितियों से लड़ना नहीं आता।”


24. “ना किसी से ईर्ष्या, ना किसी से कोई होड़..!!!
मेरी अपनी हैं मंजिलें, मेरी अपनी दौड़..”


25. राधा ने श्री कृष्णा से पूछा प्यार का असली मतलब क्या होता है, श्री कृष्णा ने हंस कर कहा जहाँ मतलब होता है वहां प्यार ही कहाँ होता है।


26. “चील की ऊँची उड़ान देखकर चिड़िया कभी अवसाद (डिप्रेशन )में नहीं आती, वो अपने अस्तित्व में मस्त रहती है, मगर इंसान, दूसरे की ऊँची उड़ान देखकर बहुत जल्दी चिंता में आ जाते हैं। तुलना से बचें और खुश रहें।”


27. आप समय की क़द्र करे, समय आपकी क़द्र करेगा।


28. ख्‍वाहिश भले छोटी सी हो लेकिन उसे पूरा करने के लिए दिल में सच्चाई और इरादे में मज़बूती होनी चाहिए।


29. घड़ी को देखो मत, बल्कि वो करो जो घड़ी करती है, बस चलते रहो।


30. सपने वो नहीं है जो हम नींद में देखते है, सपने वो है जो हमें नींद नहीं लेने देते।


31. दुसरो की मदद करते हुए यदि दिल में ख़ुशी हो, तो वही सेवा है बाकी सब दिखावा है।


32. आपका समय सीमित है, इसीलिए इसे किसी और की ज़िन्दगी जी कर व्यर्थ मत करो।


33. जिंदगी आसान नहीं होती, इसे आसान बनाना पड़ता है…! कुछ ‘अंदाज’ से, कुछ ‘नजर अंदाज ‘से.!


34. आपका समय कीमती है…इसे अच्छे कार्यो में इस्तेमाल कीजिये।


35. अच्छे लोगों की सबसे बड़ी खूबी यह होती है कि उन्हें याद रखना नहीं पड़ता, वो याद रह जाते है।


36. हर किसी को खुश करना शायद हमारे वश में न हो, लेकिन किसी को हमारी वजह से दुख ना पहुचे ये तो हमारे वश में है।


37. ज्ञान शक्ति है। जानकारी स्वतंत्रता है।


38. समय दिखाई नहीं देता, पर बहुत कुछ दिखा जाता है।


39. महानता कभी न गिरने में नहीं बल्कि हर बार गिर कर उठ जाने में हैं।


40. सफलता हमारा परिचय दुनिया से करवाती है और असफलता हमें दुनिया का परिचय करवाती है।


41. खुश रहना सबसे बड़ी दवा है खुश रहिए और आगे बढ़ते रहिए|


आप जया किशोरी जी को सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते हैं जहां पर आप हमेशा इनके नये सुविचार और इनसे जुड़े रह सकते हैं।

Information of official website, Social Handles by Jaya Kishori Ji

Jaya Kishori Ji shares her official website and social media handles. Beware of Fake accounts.
निष्कर्ष

जया किशोरी जी के भगत गण उनके लिए उपहार आदि लेकर आते है ठीक उसी तरह से कुछ भक्त चाहते है कि जया किशोरी जी के लिए कुछ पंक्तियाँ लिखी जाये|

अगर कोई भक्त जया किशोरी जी के लिए कुछ पंक्तियाँ लिखना चाहता है तो हमें comment के माध्यम से बताए हमे उसे अपनी Hindiparichay.com पर अपडेट करने में बहुत ही गर्व महसूस होगा.

मन्नू कड़ियाँ जी के द्वारा लिखी गयी कुछ पंक्तियाँ

आँखें जो खुली तो उन्हें अपने करीब पाया ना था
कभी थे रूह में शामिल आज उनका साया ना था
बेपनाह मोहब्बत की जिनसे उम्मीदें लिये बैठे थे
उनसे तन्हाइयों की सौगातें मिलेंगी बताया ना था
एक हम ही कसीदे हुस्न के हर बार पढ़ते रहे पर
उसने तो कभी हाल-ए-दिल सुनाया ना था
वो फिरते रहे दिल में ना जाने कितने राज लिये
हमने तो कभी उनसे जज्बातों को छुपाया ना था
जाने क्यों हम बेवजह मदहोश हुआ करते थे
जाम आँखों से तो कभी उसने पिलाया ना था
मीलों कब्ज़ा कर बना रखा था सपनों का महल पर
उसने वो ख़्वाब कभी आँखों में सजाया ना था
धड़कन ‘मौन’ हुई अब एक आह की आवाज़ है
शिकवा क्या उनसे जिसने कभी अपना बनाया ना था

मैं उम्मीद करता हूँ कि आपको जया किशोरी जी की पूरी जानकारी (Jaya Kishori Biography) पसंद आई होगी। इसे आगे शेयर जरूर करें.

जया किशोरी से संबंधित पूरी जानकारी में किसी भी प्रकार की कोई कमी हो तो जरूर बताए.

यदि आपको Jaya Kishori Biography में कोई कमी दिखे या फिर कोई सुझाव हो तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

जय खाटू श्याम जी
“धन्यवाद”

Jaya Kishori
पूज्य जया किशोरी जी का सम्पूर्ण जीवन परिचय

Jaya Kishori (real name Jaya Sharma) was born on July 13, 1995 in Kolkata. She is a young Hindu Kathakaar (bard) who is called the Meera of this age.

Email: [email protected]

Gender: Female

Job Title: Public Figure (Bhajan Singer)

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment