निबंध

आतंकवाद पर निबंध प्रस्तावना सहित

आतंकवाद पर निबंध
indian asmr

आतंकवाद पर निबंध: आतंकवादी लोग आतंकवाद को फैलाते है। इन आतंकवादियों का केवल एक लक्ष्य होता है आतंकवाद फैलाना और अपने लक्ष्य को प्राप्त करना।

उनकी इच्छा और उनका लक्ष्य हमेशा से ही अन्य साधारण लोगों के लिए नुकसानदेह रहा है और आतंकवाद से आम आदमी हमेशा से ही कुछ न कुछ खोता रहा है। हालही में हुए पुलवामा अटैक में आतंकवादियों द्वारा किया गया विस्फोट जिसने कई निर्दोष CRPF के सैनिक शहीद हुए।

पसंदीदा लेख: मेरी माँ पर निबंध और उनका मेरे जीवन में महत्व

आतंकवाद क्या है निबंध?

आतंकवाद इस शब्द का अर्थ बहुत कुछ कहलाता है लेकिन हम केवल इस शब्द को आतंकवाद के नाम से ही जानेंगे। आतंकवाद एक ऐसा शब्द है जिसने पूरी दुनिया को हिला कर रखा है और एक डर मन में बना रखा है की आतंकवादी हमारे देश में हमारे राज्य में ना आ जाए।

आतंकवाद में सभी प्रकार की गैरकानूनी और सीधे साधे लोगों को गुमराह करना और जो व्यक्ति आतंकवादी के खिलाफ जाता है तो उसे अपने रास्ते से हटा दिया जाता है।

आतंकवादी लोगों को मारते हैं, अपनी हुकूमत जताने के लिए वो किसी भी हद तक गुजर जाते है। आतंकवादी हमेशा से ऐसे कार्य करते है जिन्हें आतंकवाद कहा जाता है जिसमें लोगों को अपना बनाने से लेकर उनकी जिंदगी ले ली जाती है उसको आतंकवाद कहा जाता है।

यह एक राष्ट्रियस्तर मुद्दा बन चुका है। आतंकवाद से पूरी दुनिया परेशान है, आतंकवादी की कोई जाती धर्म नहीं होती है वो सिर्फ अपना जिहाद फैलाना ही सीखते है।

आतंकियों के लिए आतंकवाद चलाना आज के समय में इतना आसान नहीं जितना पहले हुआ करता था। आतंकी लोग अपना लक्ष्य प्राप्त करने के लिए विभिन्न सामाजिक संगठन राजनीतिज्ञ और व्यापारिक उद्योगों के द्वारा आतंकवाद का इस्तेमाल करने की चाह रखते है और जो आतंकवाद को बढ़ावा देते है उन्हें हिंदी भाषा में आतंकवादी भी कहा जाता है, उग्रवादी उन लोगों का शब्द है।

आतंकवाद पर निबंध 2020

यहां आपको Terrorism Essay in Hindi For Class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 और 12 कक्षा के छात्रों के लिए मिलेगा।

Essay on Terrorism in Hindi 500 Words

Terrorism Essay in Hindi

भारत सोने की चिड़िया माना जाता रहा है लेकिन आज भी कुछ चीजें है जो भारत में पिछड़ी भी हैं जैसे कि गरीबी, जनसंख्या वृद्धि, निरक्षरता, असमानता अन्य बहुत सी चीजें हैं जो भारत को आज भी पीछा करते आ रही है। जाति धर्म के पीछे लड़ाई फिर चाहे वे किसी भी धर्म के लोग क्यों ना हो।

भारत, पाकिस्तान, या फिर किसी भी अन्य देश में देखा जाए तो वहाँ पर भी आतंकवाद का डर बना रहता है। आतंकवाद एक ऐसा शब्द है जिसे सुनते ही लोगों के दिलों में दहशत बैठ जाती है और यह एक बहुत ही बड़े स्तर पर राष्ट्रीय मुद्दा बन चुका है।

आतंकवाद के अंतर्गत मानव के दिमाग के साथ खिलवाड़ किया जाता है, संपूर्ण संसार में आतंकवाद एक बहुत बड़ी समस्या बन चुकी है, प्रत्येक देश मैं कुछ देश ऐसे हैं जिनको आतंकवाद का सामना करना पड़ रहा है चाहे वह अमेरिका, पाकिस्तान, भारत ही क्यों ना हो।

आतंकवाद को जड़ से खत्म करना इतना आसान नहीं है जितना कि हम सोच सकते है। प्रत्येक देश अपने देश के हित में कठिन से कठिन निर्णय निकालते है ठीक उसी तरीके से आतंकवाद के प्रति प्रत्येक देश हमेशा जागरूक है और आतंकवाद को अपने देश में टिकने तक नहीं देते हैं जैसे कि यदि किसी आतंकवादी ने भारत के अंदर अपना कदम रखा तो उसे लोहे के चने चबाने पड़ते है और नाकामी उसके हाथ लगती है।

आतंकवाद के अंतर्गत कुछ ऐसे काम होते है जिनका उद्देश्य केवल आतंक फैलाना होता है जिस जगह पर आतंक फैलाते है उस जगह को अपना बनाने के लिए वह किसी भी हद तक गुजर जाते हैं।

आतंक फैलाने के लिए वह सीधे-सीधे लोगों का दिमाग साफ कर उन्हें अपने कारनामों को अंजाम देने के लिए प्रयोग करते हैं। आतंकवाद एक हिंसात्मक कार्य करते हैं जिसे पूरा करने के लिए एक समूह जो आतंकवादी कहलाता है। बहुत साधारण लोग होते है उनके साथ, अधिक घटना घटी होती हैं जैसे कि प्राकृतिक आपदाओं के कारण वो किसी तरह अपने दिमाग पर से अपना नियंत्रण खो देते है जिनसे अपनी इच्छाओं को सामान्य वस्तु किस तरीके से पूरा करने में सक्षम बना देते है।

अपने लक्ष्य को पूरा करने के लिए वह समाज के बुरे लोगों को अपने साथ जोड़ते हैं और अच्छे अच्छे लाभ दिखाकर अपने आतंक दल में सम्मिलित कर लेते है। अन्य सभी लोगों को यह लालच दिया जाता है कि उनकी सभी प्रकार की इच्छाएं संपूर्ण की जाएगी लेकिन उसके लिए सब को एकजुट होना होगा और आतंक बढ़ाना होगा।

चलते देश को केवल नुकसान ही प्राप्त होता है और देश के युवाओं का विकास जो कि रुक जाता है और उसकी वृद्धि को काफी हद तक प्रभावित करता है।

आतंकवाद के चलते एक राष्ट्र अपने विकास को पीछे कर देता है, आतंकवाद देश पर एक राक्षस की तरह आक्रमण करता है जिससे हमें पल लड़ना होता है। आतंकवाद अपनी जड़ों को फैलाने की पूरी-पूरी कोशिश करता है लेकिन हमारे देश के अच्छे नेता और सैनिक आतंकवाद का  अंत करते आ रहे है।

निष्कर्ष

आतंकवाद को रोकना बहुत जरूरी है। आतंकवाद को खत्म करने के लिए हमें अपने देश को मजबूत करना होगा और अपने युवाओं को आज एक अच्छी सोच के साथ अच्छे रास्तों को दिखाना होगा जिससे कि वह आतंकवाद के खिलाफ कड़ी से कड़ी योजनाएं बना सके और आतंकवाद को अपने देश के अंदर ना आने दे।

जय हिंद जय भारत

आपके लिए⇓

Short Essay on Aatankwad in Hindi with Headings

Essay on Aatankwad in Hindi

आतंकवाद  एक ऐसा शब्द है जिसे सुनते ही लोगों के दिलों में दहशत बैठ जाती है और यह एक बहुत ही बड़े स्तर पर राष्ट्रीय मुद्दा बन चुका है। आतंकवाद के अंतर्गत मानव के दिमाग के साथ खिलवाड़ किया जाता है, संपूर्ण संसार में आतंकवाद एक बहुत बड़ी समस्या बन चुकी है। प्रत्येक देश मैं कुछ देश ऐसे हैं जिनको आतंकवाद का सामना करना पड़ रहा है चाहे वह अमेरिका, पाकिस्तान, भारत ही क्यों ना हो।

आतंकवाद को जड़ से खत्म करना इतना आसान नहीं है जितना कि हम सोच सकते है। प्रत्येक देश अपने देश के हित में कठिन से कठिन निर्णय निकालते हैं ठीक उसी तरीके से आतंकवाद के प्रति प्रत्येक देश हमेशा जागरूक है और आतंकवाद को अपने देश में टिकने तक नहीं देते हैं जैसे कि भारत यदि किसी आतंकवाद को भारत के अंदर आकर अपना कदम रखता है तो उसे लोहे के चने चबाने पड़ते हैं और नाकामी उसके हाथ लगती है।

आतंकवाद के अंतर्गत कुछ ऐसे काम होते है जिनका उद्देश्य केवल आतंक फैलाना होता है जिस जगह पर आतंक फैलाते है उस जगह को अपना बनाने के लिए वह किसी भी हद तक गुजर जाते है।

आतंक फैलाने के लिए वह सीधे-सीधे लोगों का दिमाग साफ कर उन्हें अपने कारनामों को अंजाम देने के लिए प्रयोग करते है। आतंकवाद एक हिंसात्मक को करते हैं जिसे पूरा करने के लिए एक समूह जो आतंकवादी कहलाता है। बहुत साधारण लोग होते हैं उनके साथ, अधिक घटना घटी होती हैं जैसे कि प्राकृतिक आपदाओं के कारण वो किसी तरह अपने दिमाग पर से अपना नियंत्रण खो देते है जिनसे अपनी इच्छाओं को सामान्य वस्तु किस तरीके से पूरा करने में सक्षम बना देते है।

अपने लक्ष्य को पूरा करने के लिए वह समाज के बुरे लोगों को अपने साथ जोड़ते हैं और अच्छे अच्छे लाभ दिखा कर अपने आतंक दल में सम्मिलित कर लेते हैं। अन्य सभी लोगों को यह लालच दिया जाता है कि उनकी सभी प्रकार की इच्छाएं पूर्ण की जाएगी लेकिन उसके लिए सब को एकजुट होना होगा और आतंक बढ़ाना होगा।

चलते देश को केवल नुकसान ही प्राप्त होता है और देश के युवाओं का विकास जो कि रुक जाता है और उसकी वृद्धि को काफी हद तक प्रभावित करता है।

आतंकवाद के चलते राष्ट्र का विकास पीछे हो जाता है, आतंकवाद देश पर एक राक्षस की तरह काम करता है और जिससे हमें पल-पल लड़ना होता है। आतंकवाद अपनी जड़ों को फैलाने की पूरी कोशिश करता है लेकिन हमारे देश के अच्छे नेता और सैनिक आतंकवाद का अंत करते आ रहे हैं।

निष्कर्ष

आतंकवाद को रोकना बहुत  जरूरी है। आतंकवाद को खत्म करने के लिए हमें अपने देश को मजबूत करना होगा और अपने युवाओं को आज एक अच्छी सोच के साथ अच्छे रास्तों को दिखाना होगा जिससे कि वह आतंकवाद के खिलाफ कड़ी से कड़ी योजनाएं बना सके और आतंकवाद को अपने देश के अंदर ना आने दे।

जय हिंद जय भारत

उम्मीद करता हूँ कि आपको आतंकवाद पर निबंध का लेख बहुत ही अच्छा लगा होगा और आगे भी ऐसे लेख पाने के लिए notification शुरू कर लीजिए और इस लेख को साझा कर दीजिए।

About the author

Hindi Parichay Team

हमारी इस वेबसाइट को पड़ने पर आप सभी का दिल से धन्यवाद, HindiParichay.com में आपको दुनिया भर के प्रसिद्ध लोगों की जानकारी मिलेगी और यदि आपको किसी स्पेशल व्यक्ति की जानकारी चाहिए और किसी कारण वो हमारी वेबसाइट पे न मिले तो कमेंट बॉक्स में लिख दें हम जल्द से जल्द आपको जानकारी देंगे।

Leave a Comment