स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध व भाषण हिंदी में

Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi

नमस्कार दोस्तों, आज भारत के अभियानो में सबसे बड़ा अभियान है स्वच्छ भारत अभियान|

वैसे तो श्रीमान नरेंद्र मोदी जी ने बहुत से अभियानों की शुरुआत है ठीक उसी स्वच्छ भारत अभियान सबसे बड़ा अभियान माना जा रहा है|

स्वच्छ भारत अभियान का अर्थ केवल हम भारतीय ही नहीं बाकी पूरा संसार जानता है|

सारे संसार के लोगों में केवल एक यही बात है कि बहुत से लोग स्वच्छ भारत अभियान पर काम कर रहे है और बहुत से लोग इस अभियान को अपने दिमाग में भी नहीं डाल रहे है|

HindiParichay.com पर आज मैं आपके साथ स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध प्रस्तुत करने जा रहा हूँ जिससे आपको इसकी महानता के विषय में पता चल सके|

Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi

हम भारत जैसे देश में रहते है जहा करोड़ों भारतीय है| प्रत्येक भारतीय ये बात अच्छी तरह जानता है कि स्वच्छ भारत अभियान के तहत प्रत्येक प्रकार की साफ सफाई की बात की गयी है चाहे वो देश की सड़के स्मारक आदि हो या देश के सरकारी दफ्तरों आदि में भ्रष्टाचार फैला हुआ हो|

भारत एक ऐसा देश है जहा प्रत्येक नागरिक अपना जीवन अपनी इच्छा अनुसार जी रहा है| प्रत्येक कार्य अपनी मन की इच्छा के आधार पर कर रहा है|

आज के इस लेख में मैं आपको स्वच्छ भारत अभियान पर सम्पूर्ण निबंध देने जा रहा हूँ|

स्लोगन स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध हिंदी में (1000)

⇓ Essay on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi

स्वच्छ भारत अभियान आधिकारिक रूप से सन् 1999 से चल रहा है पहले इसका नाम ग्रामीण स्वच्छता अभियान था| लेकिन सरकार ने इसका पुनर्गठन करते हुए इसका नाम पूर्ण स्वच्छता अभियान कर दिया था।

लेकिन 1 अप्रैल 2012 को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने इस योजना में बदलाव करते हुए इस योजना का नाम निर्मल भारत अभियान रख दिया और बाद में स्वच्छ भारत अभियान के रूप में 24 सितंबर 2014 को केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस को मंजूरी मिल गई।

भारत के राष्ट्रपिता स्व. महात्मा गांधी जी ने भारत को साफ सुथरा बनाने की ठानी थी| क्योंकि उन्हें पूरा विश्वास था की भारत के विकास की नींव केवल भारत की स्वच्छता पर ही आश्रित है|

भारत का विकास सपूर्ण भारत की स्वच्छता पर निर्भर करता है|

स्वच्छ भारत का सपना जो की महात्मा गांधी जी ने देखा था आज उसे पूरा करने के लिए श्रीमान नरेंद्र मोदी जी के द्वारा महात्मा गांधी जी के 145 वे जन्मदिन पर अर्थात 02 अक्टूबर 2014 को इस अभियान का उदघाटन किया गया है| इस अभियान के मुख्य कारण देश में फैली गंदगी को साफ करने के लिए इस अभियान को जारी किया गया|

स्वच्छ भारत अभियान का उदघाटन माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 2 अक्टूबर 2014 को गांधी जयंती पर किया था। क्योंकि गांधी जी का सपना था कि हमारा देश भी विदेशों की तरह पूर्ण स्वस्थ और निर्मल दिखाई दे।

इस बात को मध्य नजर रखते हुए प्रधानमंत्री जी ने उन्हीं के जन्मदिवस पर इस अभियान की शुरुआत दिल्ली के राजघाट से की थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने लोगों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए दिल्ली कि वाल्मीकि बस्ती में सड़कों पर झाड़ू लगाई थी। जिससे देश के लोगों में यह जागरुकता आये कि अगर हमारे देश का प्रधानमंत्री देश को स्वच्छ करने के लिए सड़क पर झाड़ू लगा सकता है तो हमें भी अपने देश को स्वच्छ रखने के लिए अपने आसपास सफाई रखनी होगी।

इस अभियान का केवल लक्ष्य है की भारत देश को सम्पूर्ण तरीके से स्वच्छता की और ले जाना है|

स्वच्छता केवल सड़कों, गलियों नालियों, स्मारकों आदि की ही नहीं बाकी सरकारी दफ्तरों में जो भ्रष्टाचार रिश्वत खोरी है उसे भी खतम करनी है|

इस अभियान का मुख्य उद्देश्य यह है कि पूरे भारत देश को स्वस्थ एवं साफ-सुथरा बनाया जा सके इस स्वच्छ आभियान में खुले में शौच करने को लेकर विशेष ध्यान दिया गया है|

आज भी बहुत से गावों में लोग शौच करने के लिए खेतों आदि का प्रयोग करते है| खुले में शौच करते हैं| खुले में शौच करने से विभिन्न प्रकार की बीमारियाँ हो जाती है ये बात बहुत से लोगों को पता नहीं थी| परंतु दिन प्रतिदिन लोगों को जागरूकता हो रही है|

आज लगभग सभी गाँव में शौचालय बन रहे है| स्वच्छ अभियान के अंतर्गत है शहर और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए स्वच्छता अभियान को बनाया गया है।

स्वच्छ अभियान के अंतर्गत शहरों में सार्वजनिक स्थलों जैसे बस स्टैंड, पोस्ट ऑफिस, बैंक, मुख्य बाजार, रेलवे स्टेशन, सरकारी कार्यालयों, अस्पतालों, सरकारी विद्यालयों के आगे आदि के पास सार्वजनिक शौचालय बनाने की योजना है और साथ ही जिन आवासीय कॉलोनियों में घरों में शौचालय बनाने की जगह नहीं है वहां पर सामुदायिक शौचालय बनाने की योजना भी जारी की गयी है।

ग्रामीण क्षेत्रों का देखा जाये तो वहां पर लोग आज भी घरों से बाहर खेतों में खुले मैदानों में शौच करने जाते हैं| इसकी मुख्य वजह उनके घर में शौचालय नहीं होना ही है और शौचालय बनाने के लिए जागरूकता के साथ साथ उनके पास इतनी धनराशि भी नहीं है कि वो अपने घर में ही शौचालय बना लें।

इसलिए सरकार ने ग्रामीण इलाकों में प्रत्येक घर में शौचालय बनवाने के लिए प्रत्येक घर को 12000 रुपए देने की योजना बनाई  थी। जिससे वहां के लोग शौचालय का निर्माण करवा सकें और भारत को स्वच्छ करने में अपना सहयोग दें।

आज लगभग 70% से भी ज्यादा गाँव में शौचालय बन चुके है|

स्वच्छ भारत अभियान को देश के हर क्षेत्र मैं पहुंचाने के लिए मोदी जी ने देश के 9 प्रभावी लोगों को चुना है जिनके नाम इस प्रकार हैं:-

  • सचिन तेंदुलकर
  • प्रियंका चोपड़ा
  • महेंद्र सिंह धोनी
  • अनिल अंबानी
  • बाबा रामदेव
  • सलमान खान
  • तारक मेहता का उल्टा चश्मा की टीम
  • कमल हसन
  • शशि थरूर आदि व्यक्तियों को चुना गया है।

स्वच्छ भारत अभियान को आगे बढ़ाने में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने भी सरकारी कार्यालयों एवं सार्वजनिक स्थलों पर पान, गुटखा, धूम्रपान, इत्यादि जैसी गंदगी फैलाने जैसे उत्पादों पर भी रोक लगा दी।

अब उत्तर प्रदेश में कहीं भी कोई भी व्यक्ति गुटखा खाकर थूकने में दस बार सोचता है, सरकारी कार्यालयों में लोग पान गुटखा खाकर कहीं भी थूक नहीं सकते है। लोग पान मसाला, गुटखा खाकर इधर उधर सार्वजनिक स्थलों की दीवारों पर थूकते हैं जिससे दीवारें खराब हो जाती हैं|

योगी आदित्यनाथ ने स्वच्छता अभियान मैं लोगों की रुचि बढ़ाने के लिए सड़कों की साफ सफाई की शुरुआत भी की थी।

स्वच्छ भारत अभियान का उद्देश्य क्या है – Speech on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi

  1. खुले में शौच बंद करवाना जिसके तहत हर साल हजारों बच्चों की मौत हो जाती थी|
  2. लगभग 11 करोड़ 11 लाख व्यक्तिगत, सामूहिक शौचालयों का निर्माण करवाना जिसमे 1 लाख 34 हजार करोड रुपए खर्च होंगे|
  3. लोगों की मानसिकता को बदलना उचित स्वच्छता का उपयोग करके|
  4. शौचालय उपयोग को बढ़ावा देना और सार्वजनिक जागरूकता को शुरू करना|
  5. गांवो को साफ रखना|
  6. 2019 तक सभी घरों में पानी की पूर्ति सुनिश्चित कर के गांवों में पाइपलाइन लगवाना जिससे स्वच्छता बनी रहे|
  7. ग्राम पंचायत के माध्यम से ठोस और तरल अपशिष्ट की अच्छी प्रबंधन व्यवस्था सुनिश्चित करना|
  8. सड़के फुटपाथ ओर बस्तियां साफ रखना|
  9. साफ सफाई के जरिए सभी में स्वच्छता के प्रति जागरूकता पैदा करना|
  10. सरकारी दफ्तरों की दीवारों पर गुटखा खा कर थूका हुआ होता था|

दोस्तों आज के लेख को पढ़ कर आपको बेहद अच्छा लगा होगा|

आज मैंने आपके साथ Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi Language में शेयर करा है|

आपको स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध का लेख अच्छा लगा हो तो देरी मत करो इस लेख को दुनिया भर में फैला दो जितना हो सके उतना शेयर करो|

आप इस लेख को व्हाट्सएप्प, फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर आदि पर शेयर कर सकते हैं|

Swachh Bharat Abhiyan
स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध व भाषण हिंदी में

Swachh Bharat Abhiyan or Swachh Bharat Mission is a nation-wide campaign in India for the period 2014 to 2019 that aims to clean up the streets, roads and infrastructure of India's cities, towns, and rural areas. The campaign's official name is in Hindi and translates to "Clean India Mission"

Editor's Rating:
5
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment