कविताएँ

शहीद भगत सिंह पर कविता जो करेगी आपको प्रेरित

शहीद भगत सिंह पर कविता हिंदी में
-विज्ञापन-

शीर्षक : भगत सिंह पर कविता (Bhagat Singh Hindi Kavita)

नमस्कार दोस्तों, आज हम आपके लिए भगत सिंह पर कविता का बेस्ट कलेक्शन लेकर आयें है| भगत सिंह जी की कविता जो मन और दिल को उत्साह पूर्ण भर देती है और दिलों में देश के प्रति देश भक्ति जगा देती है.

शहीद भगत सिंह की कविता, भगत सिंह पर कविता का कलेक्शन आपके लिए निम्नलिखित है.

राष्ट्रीय गीत : जन गण मन अधिनायक जय हे, भारत भाग्य विधाता

शहीद भगत सिंह पर कविता हिंदी में

शहीद भगत सिंह के लिए कविता

-विज्ञापन-

“इतिहास में गूंजता एक नाम है भगत सिंह
शेर की दहाड़ सा जोश था जिसमे वे थे भगत सिंह
छोटी सी उम्र में देश के लिए शहीद हुए जवान थे भगत सिंह
आज भी जो रोंगटे खड़े करदे ऐसे विचारों के धनि थे भगत सिंह….”

भगत सिंह कविता हिंदी में – Shahid Bhagat Singh Poem in Hindi

Shahid Bhagat Singh Poem in Hindi

डरे न कुछ भी जहां की चला चली से हम।
गिरा के भागे न बम भी असेंबली से हम।

-विज्ञापन-

उड़ाए फिरता था हमको खयाले-मुस्तकबिल,
कि बैठ सकते न थे दिल की बेकली से हम।

हम इंकलाब की कुरबानगह पे चढ़ते हैं,
कि प्यार करते हैं ऐसे महाबली से हम।

जो जी में आए तेरे, शौक से सुनाए जा,
कि तैश खाते नहीं हैं कटी-जली से हम।

न हो तू चीं-ब-जबीं, तिवरियों पे डाल न बल,
चले-चले ओ सितमगर, तेरी गली से हम।

शहीद भगत सिंह के लिए कविता – Poem on Veer Bhagat Singh in Hindi

Poem on Veer Bhagat Singh in Hindi

भारत के लिये तू हुआ बलिदान भगत सिंह ।
था तुझको मुल्को-कौम का अभिमान भगत सिंह ।।

वह दर्द तेरे दिल में वतन का समा गया ।
जिसके लिये तू हो गया कुर्बान भगत सिंह ।।

वह कौल तेरा और दिली आरजू तेरी ।
है हिन्द के हर कूचे में एलान भगत सिंह ।|

फांसी पै चढ़के तूने जहां को दिखा दिया ।
हम क्यों न बने तेरे कदरदान भगत सिंह ।।

प्यारा न हो क्यों मादरे-भारत के दुलारे ।
था जानो-जिगर और मेरी शान भगत सिंह ।।

हरएक ने देखा तुझे हैरत की नजर से ।
हर दिल में तेरा हो गया स्थान भगत सिंह ।।

भूलेगा कयामत में भी हरगिज न ए ‘किशोर’ ।
माता को दिया सौंप दिलोजान भगत सिंह ।।
[ ब्रिटिश राज के प्रतिबंधित साहित्य से ]

भगत सिंह की कविताएँ हिंदी में – Famous Hindi Poem For Bhagat Singh

Famous Hindi Poem For Bhagat Singh

मेरा मुल्क मेरा देश मेरा ये वतन
शांति का उन्नति का प्यार का चमन
इसके वास्ते सब निछावर है…..
मेरा तन… मेरा मन……

ऐ वतन, ऐ वतन, ऐ वतन
जाने मन जाने मन जाने मन…

-विज्ञापन-
भगत सिंह पर कविता – Heart Touching Poem For Bhagat Singh in Hindi

Heart Touching Poem For Bhagat Singh in Hindi

बात सुनो भाई भगत सिंह
गुंडे चोर इंडिया के…
बात सुनो भाई भगत सिंह
गुंडे चोर इंडिया के…

भारत माँ को लुटते है जनता के सपने टूटते हैं,
गरीब भूके मरते है अमीरों के घर भरते है….
लड़किया सड़े तेजाब मै
जवानी रुले शराब में…
आज देश आजाद है आज देश आजाद है
आपकी क़ुरबानी पर नाज है.
पर क्या करे ऐसी आजादी का
हर दिन दिखती बर्बादी का….
यह हे हाल देश का
सफ़ेद कपड़ो में गुंडों के भेस का.
किसी को कोई टेंशन नही बूढों को मिलती पेंशन नही..

गाय का खाते चारा यह,
हमारा देश है महान का लगाते नारा यह…
किस चीज का इनको नाज है,
किस चीज का हमे नाज है…
ऐसा क्या है जो हमारे देश में महान हैं,
ऐसा क्या है जो हमारे देश में महान हैं……

भगत सिंह के अनमोल विचार और उनके बलिदान के लिए पूरा भारत देश उनका आभारी है और हर हिन्दुस्तानी उनको याद करता है| उनके दिए गए बलिदान को भुलाया नहीं जा सकता.

भगत सिंह जी के विचार सभी और भगत सिंह पर कविता सभी भारतीय लोगों को पता होना चाहिए चाहे हिन्दू हो या मुस्लिम, सिख, इसाई उनके विचार सभी लोगों को मालूम होने चाहिए.

आप देश के लिये कुछ कर सकते हैं| भगत सिंह जी का जीवन परिचय और विचार शेयर करके देशभक्ति कर सकते है|

अन्य लेख ⇓

About the author

Hindi Parichay Team

हमारी इस वेबसाइट को पड़ने पर आप सभी का दिल से धन्यवाद, हमारी इस वेबसाइट में आपको दुनिया भर के प्रशिद्ध लोगों की जानकारी मिलेगी और यदि आपको किसी स्पेशल व्यक्ति की जानकारी चाहिए और किसी कारण वो हमारी वेबसाइट पे न मिले तो कमेंट बॉक्स में लिख दें हम जल्द से जल्द आपको जानकारी देंगे|

Leave a Comment