कविताएँ बाल दिवस

बाल दिवस पर टॉप 5 कवितायें – Poem on Children’s Day in Hindi

Poem on Children’s Day in Hindi

प्यारे बच्चों और सभी बड़ों को मेरा प्रणाम| आज के समय में किसी के पास ज्यादा समय नहीं है इसलिए मै आपको बता हूँ की आपके समय की कीमत को मै समझता हूँ इसलिए आपके लिए बाल दिवस पर कविता – Poem on Children’s Day in Hindi Language में लेकर आया हूँ.

सभी बच्चे अपने स्कूल, कॉलेज आदि में इन कविताओं का प्रयोग कर सकते हैं| बाल दिवस की कविता को कम से कम एक बार तो जरूर पढ़ कर जाना क्या पता आपके अध्यापक आपको लोगों के सामने खड़ा कर के बोल दे की चलो बाल दिवस की कविता लिख कर दिखाओं या बाल दिवस की कविता को सुनाओ.

फिर आपको अपनी HindiParichay.com याद आएगी| इसलिए कृपया करके बाल दिवस की पाँच कविताओं को याद कर लेना.

बाल दिवस की कविताएँ जो सभी का मन जीत लें| मै अपनी कविताओं का सिलसिला शुरू करने से पहले उन सभी लेखों को पूरे दिल से धन्यवाद करना चाहूँगा क्योंकि आज लेखक नहीं होते तो हमें बाल दिवस की कविता नहीं मिलती.

बच्चों के लिए भारत सरकार कुछ न कुछ करती ही रहती है| बस आपको भी इतना ही करना है की आपको ये लेख शेयर करना है उन सभी बच्चों में जो कहीं कहीं अकेले हैं|

बाल दिवस की कवितायें जो आपने कभी न पढ़ी हों और नहीं कभी सुनी हों|

#1. Poem on Children’s Day in Hindi – बाल दिवस पर कविता

चाचा नेहरु के जन्मदिन पर,
बाल दिवस है मनाया जाता
बाल दिवस लाता है खुशियों का त्यौहार
इसमें बच्चे पाते है बहुत ढेर सारा प्यार
नेहरु चाचा करते से हम बच्चो से प्यार
क्योकि बच्चो का दिन होता है पूरी तरह से साफ़
चाचा नेहरु का था सिर्फ एक ही सपना
पढने में आगे हो अपने देश का हर एक बच्चा बच्चा
क्योकि भारत के बच्चे है फ्यूचर इस देश के
एजुकेशन से होता कल्याण इनका
बाल दिवस के मौके पर सभी बच्चे को ये वादा है निभाना
चाचा नेहरु के सपने को सच करके है दिखाना…

#2. Children’s Day Poem on Chacha Nehru in Hindi

फूलों के जैसे महकते रहो,
पंछी के जैसे चहकते रहों,
सूरज की भांति चमकते रहों,
तितली के जैसे मचलते रहों,
माता-पिता का आदर करो,
सुंदर भावों को मन में भरो,
ये है हमारी शुभ कामना,
ये बचपन हमेशा हँसता रहे
मुस्कुराता रहे…
बाल दिवस की शुभकामनाएं…

#3.  Poem on Children’s Day in Hindi – बाल दिवस पर कविता हिंदी में

सूरज निकला मिटा अँधेरा,
देखो बच्चों हुआ सवेरा.
आया मीठी हवा का फेरा,
चिड़ियों ने फिर छोड़ा बसेरा.
जागो बच्चों अब मत सोओ,
इतना सुंदर समय न खोओ…

#4. Children’s Day Poem in Hindi – 14th November Poem in Hindi

बाल-दिवस है आज साथियों, आओ खेले खेल,
जगह-जगह पर मची हुई खुशियों की रेलमरेल.

बरसगांठ चाचा नेहरू की फिर आई है आज,
उन जैसे नेता पर सारे भारत को है नाज.

वह दिल से भोले थे इतने, जितने हम नादान,
बूढ़े होने पर भी मन से वे थे सदा जवान.

हम उनसे सीखे मुस्काना, सारें संकट झेल,
बाल-दिवस है आज साथियों, आओ खेले खेल.

हम सब मिलकर क्यों न रचाएं ऐसा सुख संसार,
भाई-भाई जहां सभी हो, रहे छलकता प्यार,
नही घृणा हो किसी ह्रदय में, नही द्वेष का वास,
आँखों में आँसू न कहीं हो, हो अधरों पर हास,
झगड़े नही परस्पर कोई, हो आपस में मेल,
बाल-दिवस है आज साथियों, आओ खेले खेल.

पड़े जरूरत अगर, पहन ले हम वीरों का वेश,
प्राणों से भी बढ़कर प्यारा हमको रहे स्वदेश,
मातृभूमि की आजादी हित हो जाएं बलिदान,
मिट्टी से मिलकर भी माँ की रक्खे ऊँची शान.

दुश्मन के दिल को दहला दे, डाल नाक-नकेल,
बाल-दिवस है आज साथियों, आओ खेले खेल…

#5. Poem on Children’s Day in Hindi – Best Poem on Bal Diwas in Hindi

बचपन है ऐसा खजाना
आता है ना दोबारा
मुस्किल है इसको भूल पाना
वो खेलना कूदना और खाना
मौज मस्ती में बखलाना
वो माँ की ममता और वो पापा का दुलार
भुलाये ना भूले वह सावन की फुवार
मुस्किल है इन सभी को भूलना
वह कागज की नाव बनाना
वो बारिश में खुद को भीगना
वो झूले झुलना और और खुद ही मुस्कुराना
वो यारो की यारी में सब भूल जाना
और डंडे से गिल्ली को मरना
वो अपने होमवर्क से जी चुराना
और टीचर के पूछने पर तरह तरह के बहाने बनाना
बहुत मुस्किल है इनको भूलना…

वो एग्जाम में रट्टा लगाना
उसके बाद रिजल्ट के डर से बहुत घबराना
वो दोस्तों के साथ साइकिल चलाना
वो छोटी छोटी बातो पर रूठ जाना
बहुत मुस्किल है इनको भुलाना…

वो माँ का प्यार से मनाना
वो पापा के साथ घुमने के लिए जाना
और जाकर पिज्जा और बर्गेर खाना
याद आता है वह सब जबान
बचपन है ऐसा खजाना
मुस्किल है इसको भूलना…

बाल दिवस का दिन खुशियों भरा दिन होता है| बच्चों के लिए इस दिन की महत्वता बहुत होती है| इसलिए कहा जाता है बाल दिवस इसका अर्थ ही है की बच्चों का दिन|

बच्चे अपने चाचा जी अर्थात पंडीत जवाहर लाला नेहरू जी के जन्मदिन के अवसर पर स्कूल कॉलेज आदि में कविता समारोह में भाग लेते हैं|

14 नवम्बर को देश के प्रथम प्रधानमंत्री का जन्म हुआ था| पंडित जवाहर लाल नेहरू जी का जन्म हुआ था| जवाहर लाल नेहरू जी बच्चों से बहुत प्यार करते थे.

बाल दिवस के दिन बच्चों के भविष्य के लिए कई सारे नियम लागू किए जाते हैं नियमों में संशोधन किया जाता है|

दोस्तों ये थी बाल दिवस पर पाँच कवितायें जो की आप अपने स्कूल, कॉलेज आदि बाल दिवस पर सुना सकते हैं और अपने दोस्तों आदि में शेयर कर सकते हैं.

आपका एक शेयर भी हमारे लिए बहुत जरूरी होता है| “धन्यवाद” कमेंट करके अपने विचार हमारे साथ व्यक्त जरुर करें.

Related Article To Poem on Children’s Day in Hindi ⇓

About the author

Hindi Parichay Team

हमारी इस वेबसाइट को पड़ने पर आप सभी का दिल से धन्यवाद, हमारी इस वेबसाइट में आपको दुनिया भर के प्रशिद्ध लोगों की जानकारी मिलेगी और यदि आपको किसी स्पेशल व्यक्ति की जानकारी चाहिए और किसी कारण वो हमारी वेबसाइट पे न मिले तो कमेंट बॉक्स में लिख दें हम जल्द से जल्द आपको जानकारी देंगे|

Leave a Comment