भारतीय नेता

अरविंद केजरीवाल का जीवन परिचय, शिक्षा, नौकरी व आम आदमी पार्टी की शुरुआत

अरविंद केजरीवाल का जीवन परिचय

» अरविंद केजरीवाल का जीवन परिचय «

नाम :अरविंद केजरीवाल
जन्म तिथि :16 अगस्त 1968
जन्म स्थान :सिवानी हरीयाणा
पिता का नाम :श्री गोविन्द राम केजरीवाल
माता का नाम :श्रीमति गीता देवी

अरविंद केजरीवाल का जीवन परिचय – Arvind Kejriwal Biography in Hindi

अरविन्द केजरीवाल हमारे देश के मुख्यमंत्री है| 16 अगस्त 1968 हरियाणा के छोटे से गांव सिवानी में इनका जन्म हुआ| इनको इस बात का बिलकुल अंदाजा नही था की वह भारत के मुख्यमंत्री बनेंगे| उनमे कुछ कर दिखाने की हिम्मत थी.

उनके पिता का नाम गोविन्द राम केजरीवाल है जो इलेक्ट्रिकल इंजिनियर थे और उनकी माता का नाम गीता देवी है| अरविन्द केजरीवाल का जन्म जन्मअष्टमी के दिन हुआ जिसकी वजह से उनको कान्हा भी कहा जाता था.

अरविंद केजरीवाल की शिक्षा, नौकरी – Arvind Kejriwal Education in Hindi

Arvind Kejriwal Biography in Hindi

अरविन्द केजरीवाल ने अपना बचपन उत्तर प्रदेश के हिसार, सोनीपत एवं गाजियाबाद में बिताया| स्कूल की शिक्षा कैंपस स्कूल, हिसार से हुई है.

स्कूल के दिनों से ही अरविन्द केजरीवाल अपने कार्य को दिलोंजान से किया करते थे| उनका ड्रामा और भाषण वार्तालाप में बहुत मन लगता था और एक बार जब उन्होंने भाषण में भाग लिया तो उनकी तबियत खराब हो गयी थी तो फिर अरविन्द केजरीवाल कम्बल लपेटकर स्कूल गए और डिबेट में भाग लिया.

वे नहीं चाहते की उनकी वजह से कोई हारे और सन् 1989 में अरविन्द जी ने IIT खड़कपुर से Mechanical Engineering में डिग्री प्राप्त की और कॉलेज के समय जब वह ड्रामा आदि में भाग लिया करते थे तब वे चाहते थे की उनके देश की हालत सभी लोगों को पता चले और ड्रामा देख कर अपने आप में बदलाव लायें.

सन् 1989 में TATA Steel company join कर ली थी और जमशेदपुर गए| और सन् 1992 में उन्होंने टाटा ग्रुप के हेड के सोशल वेलफेयर डिपार्टमेंट में काम करना चाहा| मगर टाटा ग्रुप ने मना कर दिया जिसकी वजह से केजरीवाल ने टाटा कंपनी छोड़ दी और CIVIL SERVICES की तैयारी की| एक Attempt Clear कर जिससे उन्हें IRS मिला था.

केजरीवाल जी का मन लोगों की सेवा करने का था तो जमशेदपुर में Mother Teresa जी के पास गए और Mother Teresa जी के कहने पर केजरीवाल ने कालीघाट आश्रम जाकर काम किया और केवल दो ही महीने काम किया.

अरविन्द जी का Mother Teresa जी से मिलना ही जीवन का सबसे महत्वपूर्ण मोड़ था.

केजरीवाल जी के साथ पढने वाले साथी देश विदेश जा कर उच्च शिक्षा अर्जित करना चाहते थे और वे गए भी मगर अरविन्द केजरीवाल जी ने मना कर दिया बाहर जाने से, उनकी College में CGPA 8.5 था.

वे चाहते तो बाहर जा सकते थे मगर नहीं गए| क्योंकि देश भक्ति में जो मजा है वो किसी और चीज में नहीं है ऐसा केजरीवाल जी का कहना था.

केजरीवाल जी ने सिविल सर्विस की परीक्षा भी इसीलिए दी ताकि वे देश के लिए कुछ कर सके और मेहनत रंग लायी| सन् 1995 में आयकर विभाग में जॉइंट कमिश्नर का पद मिला.

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट बहुत इमानदार है वहां किसी भी प्रकार का भ्रष्टाचार नहीं है ऐसा केजरीवाल जी का कहना है.

अरविन्द जी ने देखा की बाहर समाज में बहुत ज्यादा मात्रा में भ्रष्टाचार फैला हुआ है और फिर क्या था केजरीवाल जी ने उसके खिलाफ जंग शुरु कर दी.

अरविन्द केजरीवाल सन् 2000 में आयकर विभाग से 2 साल की छुट्टी ले ली और बिना तनखा के काम चलाया.

“परिवर्तन” नाम की समाज की सेवा के लिए NGO की स्थापना की| इस संस्था में दिल्ली के सभी आम लोगों के काम मुफ्त में करवाती थी जैसे की केजरीवाल जी का कहना था की अगर आप लोगों से कोई भी सरकारी अफसर चाहें वो बिजली दफ्तर, आयकर द्फ्तर पुलिस आदि कोई भी सरकारी अफसर क्यों न हो “अगर वे आपसे रिश्वत मांगे तो हमें बताये हम कारवाही करेंगे”.

केजरीवाल जी ने दिल्ली में इसके पर्चे बटवाये| परिवर्तन संस्था में ज्यादा मनीष शिशोदिया और अन्य लोगों का नाम जाहिर हुआ मगर अरविन्द केजरीवाल जी ने संस्था के पीछे रह कर काम किया.

सन् 2003 में अरविन्द केजरीवाल ने एक बार फिर आयकर विभाग join कर लिया और 18 महीने काम किया.

अरविन्द केजरीवाल ने भ्रष्टाचार को खत्म करने की ठान ली थी और देश को बदल देने की कसम खा ली| केजरीवाल ने सन् 2006 में आयकर विभाग से इस्तीफा दे दिया और पूरी तरह “परिवर्तन” संस्था में जुड़ गए.

केजरीवाल केवल एक देश से ही नहीं पुरे भारत से भ्रष्टाचार खत्म करना चाहते थे जिसके चलते उन्होंने सन् 2006 में RTI के बारे में जागरूकता फैलानी चाही.

RTI के जरिये कोई भी व्यक्ति आम आदमी अपनी सरकार से उसके कामों को लेकर सवाल जवाब कर सकती है ये उपकरण पूरी तरह से लोगों के बीच फैला नहीं है.

अरविन्द केजरीवाल की जीवनी और अन्ना हजारे – Arvind Kejriwal History in Hindi

सन् 2011 में अरविन्द केजरीवाल अन्ना हजारे के साथ लोकपाल बिल पास करवाने की लड़ाई में शामिल हो गए.

अन्ना हजारे ने India Against Corruption आन्दोलन चलाया और केजरीवाल जी भी अन्ना हजारे के साथ आमरण अनशन पर बैठ गए.

अरविन्द केजरीवाल का राजनितिक जीवन – Political Life of Arvind Kejriwal in Hindi

Information About AAM Aadmi Party in Hindi

अरविन्द केजरीवाल की कही कोई नहीं सुनता था| सरकार में कुछ भी बदलाव नहीं हो पाया तब अरविन्द केजरीवाल ने सरकार को बदलना चाहां और अरविन्द केजरीवाल का कहना बिलकुल सही है| भ्रष्टाचार को खत्म कर देना चाहिए.

आम आदमी पार्टी – Information About AAM Aadmi Party in Hindi

2 अक्टूबर 2012 को जिस दिन महात्मा गांधी जी का जन्मदिन भी था तब अरविन्द केजरीवाल ने स्वंय की पार्टी का निर्माण किया “आम आदमी पार्टी” का गठन कर दिया| सन् 2013 में इस पार्टी ने दिल्ली विधानसभा में चुनाव लड़ा.

शिला दीक्षित जी जो 15 साल से मुख्यमंत्री के पद पर थी और 28 सीटों के हरा कर जित हांसिल की और भारत में पहले कम उम्र के मुख्यमत्री बन गए| 26 दिसम्बर को अरविन्द केजरीवाल ने दिल्ली के रामलीला मैदान में मुख्यमंत्री पद की शपत ली.

भारतीय नेता ⇓

अरविंद केजरीवाल का जीवन परिचय का यह लेख यही पर खत्म होता है| उम्मीद है की आपको यह जानकारी पसंद आई होगी| आपको लेख कैसा लगा हमको कमेंट करके जरुर बताये और लेख पसंद अच्छा लगा हो तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर करें|

About the author

Hindi Parichay Team

हमारी इस वेबसाइट को पड़ने पर आप सभी का दिल से धन्यवाद, हमारी इस वेबसाइट में आपको दुनिया भर के प्रशिद्ध लोगों की जानकारी मिलेगी और यदि आपको किसी स्पेशल व्यक्ति की जानकारी चाहिए और किसी कारण वो हमारी वेबसाइट पे न मिले तो कमेंट बॉक्स में लिख दें हम जल्द से जल्द आपको जानकारी देंगे|

Leave a Comment