Advertisement Betwinner
जीवनी

सिद्धू मूसे वाला: Sidhu Moose Wala Biography in Hindi

Sidhu Moose Wala Biography in Hindi

सिद्धू मूसे वाला का जीवन परिचय माता पिता, पत्नी व उनकी, मृत्यु के बारे में सम्पूर्ण जानकारी।

About Sidhu Moose Wala in Hindi

प्रसिद्ध लोगों की जीवनी लिखना हमारा काम है इसलिए आज हमें सिद्धू मूसेवाला जो पंजाब के मशहूर गायक रहे है उनकी सम्पूर्ण जीवनी लिखने का मौका मिला है। सिद्धू मूसेलवा एक किसान के घर में जन्में और भारत की मिट्टी में ही पले बड़े है, सिद्धू मूसे वाला की जीवन के बारे में उनकी शादी के साथ साथ उनके करियर के बारे में चर्चा करेंगे और कैसे उनकी इतनी कम उम्र में मृत्यु हुई उसके बारे में भी जानेंगे।

Sidhu Moose Wala Biography in Hindi

सिद्धू मूसे वाला का असली नाम (Real Name)शुभदीप सिंह सिद्धू
सिद्धू मूसे वाला का उपनाम (Nickname)सिद्धू मूसे वाला, मूसे वाला
सिद्धू मूसेवाला का जन्मदिन (Birthday)11 जून 1993
सिद्धू मूसे वाला का जन्म स्थान (BirthPlace)मूसा वाला गांव, पंजाब
सिद्धू मूसेवाला की उम्र (Age)29 साल (मृत्यु तक)
सिद्धू मूसे वाला के माता-पिताश्री भोला सिंह सिद्धू, श्री मति चरण कौर सिद्धू
सिद्धू मूसे वाला के भाई-बहनश्री गुरप्रीत सिद्धू
सिद्धू मूसेवाला की वैवाहिक स्थिति (Marital Status)
सगाई हुई लेकिन मृत्यु के कारण शादी नहीं हो पाई
सिद्धू मूसेवाला की मृत्यु की तारीख (Date of Death)29 मई 2022, Sunday
सिद्धू मूसे वाला की मृत्यु का कारण (Death Cause)गोली मारकर हत्या की गई
सिद्धू मूसे वाला का धर्म (Religion)सिख
सिद्धू मूसे वाला की जाति (Caste)जाट
सिद्धू मूसेवाला की नागरिकता (Citizenship)भारतीय
सिद्धू मूसे वाला का गृह नगर (Hometown)मूसा वाला गांव, पंजाब
सिद्धू मूसेवाला की शिक्षा (Education)इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
सिद्धू मूसे वाला का कॉलेज (College)गुरु नानक देव इंजीनियरिंग कॉलेज, पंजाब
सिद्धू मूसेवाला की लंबाई (Height)6 फ़ीट (लगभग)
सिद्धू मूसे वाला का वजन (Weight)85kg
सिद्धू मूसे वाला के आंखों का रंग (Eye Color)काला
सिद्धू मूसे वाला के बालों का रंग (Hair Color)काला
सिद्धू मूसे वाला का पेशा (Occupation)गायक, गीतकार, राजनीतिज्ञ
सिद्धू मूसे वाला की गाड़ियांकाली थार, पजेरो, ट्रैक्टर 8-10, आदि
सिद्धू मूसे वाला का यूट्यूब चैनलसिद्धू मूसे वाला (Sidhu Moose Wala)

सिद्धू मूसे वाला का जीवन परिचय

सिद्धू मूसे वाला का असली नाम शुभदीप सिंह सिधु है। सिद्धू मूसेवाला का जन्म पंजाब के मूसा गांव मानसा में हुआ था। सिद्धू मूसेवाला एक पंजाब के साधारण पंजाबी परिवार में जन्में। सिद्धू मूसे वाला का जन्म 11 जून 1993 में हुआ था। इनके परिवार में उनके पिता श्री भोला सिंह सिद्धू जी व माता श्री मति चरण कौर सिद्धू जी और उनके बड़े भाई श्री गुरप्रीत सिद्धू है।

सिद्धू मूसे वाला बचपन से ही संगीत में अपना करियर बनाना चाहते थे और विद्यालयों, समारोह आदि में संगीत गाया करते थे, सिद्धू मूसे वाला के संगीत गाने से पहले उन्होंने पहले संगीतों को दूसरे गायकों के लिए लिखा लेकिन कुछ समय बाद सिद्धू मूसे वाला उन गीतों के शब्दों को अपने मुंह तक ले आए और खुद ही संगीत की दुनिया में आ गए।

सिद्धू मूसे वाला के गानों को सुन कर उन्हें करोड़ों लोगों का सपोर्ट मिला सिद्धू मूसे वाला ने कम उम्र में ही कामयाबी हासिल की और आज उन्हें सब सिधु मूसेवाला कहने लगे है। सिद्धू मूसे वाला की फैन फोलोविंग करोड़ों में है।

Career | सिद्धू मूसेवाला का करियर

एक किसान परिवार से जन्में और किसानी के साथ साथ उन्होंने इंजीनियरिंग की पढ़ाई सम्पूर्ण की। पढ़ाई के साथ साथ बचपन से ही उनका गीत संगीत की तरफ रुझान था जिसके चलते विद्यालयों, कॉलेजों आदि में गीत गाया करते थे। सिद्धू मूसे वाला ने पहले बहुत से संगीतकारों के लिए गीत लिखे थे और बाद में सिद्धू मूसेवाला खुद एक गायक बन गए।

सिद्धू मूसे वाला का संगीत में करियर सन् 2016 में शुरू हो गया। शुरुआत दौर में उन्होंने अपना पहला गाना लाइसेंस लिखा जिसे आवाज निंजा सिंगर ने दी। ये गाना बहुत जल्दी लोकप्रिय हो गया।

सन् 2017 में सिद्धू मूसे वाला ने खुद ही जी वैगन गाना ‘G. Wagon’ गाया जिसे लाखों लोगों ने पसंद भी किया।

सिद्धू मूसे वाला की आवाज लोगों को बहुत पसंद आई और फिर सिद्धू ने अनगिनत गानों की बौछार की। सिद्धू मूसे वाला ने बहुत सारे गाने लिखे और गाए है, सिद्धू मूसे वाला की लोकप्रियता के कारण उन्होंने एक फिल्म भी की है जिसकी रिलीजिंग होने वाली है।

सिद्धू मूसे वाला का गाना 295 के बारे में कहा जाता है कि ये एक मोटिवेशनल गाना है और इसका उनकी मृत्यु से संबंध है जैसे की उनकी मृत्यु 29/05/2022 में हुई तो लोगों का मानना है की सिद्धू मूसेवाला को पहली ही पता था की 29/05/2022 को वो हमें छोड़ देंगे इसलिए 295 में एक कोड़ भाषा में अपना संकेत दिया और आज ये गाना करोड़ो व्युस पा चुका है। सिद्धू मूसे वाला की मृत्यु पर दुनिया शोक में डूबी हुई थी। सिद्धू मूसे वाला के कातिलों की खोज भी हो चुकी है।

सिद्धू मूसे वाला की मौत का कारण क्या है?

सिद्धू मूसे वाला ने संगीत की दुनिया में अपना नाम सुनहरों अक्षरों में लिखवा लिया। उनकी लोकप्रियता के चलते उन्होंने राजनीति में कदम भी रखा और फिर उनके दुश्मनों की गिनती और भी ज्यादा हो गयी। सिद्धू मूसे वाला के साथ उनके बॉडीगार्ड रहने लगे, पुलिस फोर्स भी रहने लगी लेकिन एक समय के लिए उनकी सिक्योरिटी को हटा दिया और सिद्धू मूसे वाला अपने दोस्तों के साथ बाहर जा रहे थ इसमें शूटर पहले ही आंख गड़ाए बैठे थे और मौका पाकर सिद्धू मूसे वाला को घेर लिया गया और फिर 30 गोलियों की बौछार से उनकी मृत्यु कर दी गई।

सिद्धू मूसे वाला के साथ उनके दोस्तों को भी गोली मारी गयी लेकिन वो बच गए। सिद्धू मूसे वाला के कत्ल की जिम्मेदारी मशहूर गैंगस्टर लॉरेंस बिशनोई के साथी गोली बरार ने ली। गोलड़ी बरार ने कनाडा में बैठे ही इस बात की जिम्मेदार ली की उसने ही सिद्धू मूसेवाला को मरवाया है। सिद्धू मूसे वाला को मारने के पीछे उनकी कामयाबी से जलने का कारण बताया जा रहा है। सिद्धू मूसे वाला की मृत्यु के पीछे मनकीरत औलख सिंगर का भी नाम बताया जा रहा था लेकिन ऐसा सच नहीं है मनकीरत औलख भी एक मशहूर सिंगर है और पूछताछ अभी जारी है। करीब चार लोगों को गुनहगार पाया गया।

सिद्धू मूसे वाला की समाधि

सिद्धू मूसे वाला की मृत्यु के बाद उनकी समाधि उसी जगह बना दी गई जहां उन्हें जलाया गया। सिद्धू मूसे वाला की मृत्यु पर लाखों लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी थी, लाखों लोगों का दिल टूटा और बहुत तकलीफ पहुंची। सिद्धू मूसे वाला की समाधि पर रोजाना अलग अलग देशों राज्यों से लोग आते है और उनकी समाधि पर फूल अर्पित करके अपना दुख ब्यान करते है। सच में हमने देखते देखते अपने एक ऐसे गायक को खो दिया है जिसका मुकाबला कोई नहीं कर सकता है।

सिद्धू मूसेवाला से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियां

  • सिद्धू मूसे वाला के पिता बलकौर सिंह एक सेवानिवृत्त सेना अधिकारी हैं और उनकी माँ चरण कौर सिद्धू मोसा गांव की सरपंच हैं।
  • सिद्धू मूसेवाला पंजाबी गायक, गीतकार, मॉडल, और राजनेता थे जिन्हें पंजाबी गीत ‘सो हाई’ गाने के बाद से प्रसिद्धि मिली। सिद्धू मूसे वाला के गानों को दुनिया भर में सुना जाता है सभी देशों में उनकी प्रशंसा है साथ में उनकी 29 मई 2022 में लॉरेंस बिशनोई शूटर के कुछ कथित बदमाशों के द्वारा उनको गोली मार दी गयी जिससे उनकी उसी जगह मौत हो गयी। ये समाचार बेहद ही दुखड़ाई है जहां दुनिया सिद्धू मूसे वाला के गानों को रोजाना सुनना पसंद करती है अब इस आवाज को सुनने के लिए तरस जाएगी। सिद्धू मूसे वाला की मौत पर हजारों लोगों की भीड़ लग गयी थी जिससे इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है की उनकी प्रसिद्धि ने लोगों के दिलों में कितना राज किया है।
  • सिद्धू मूसे वाला का नाम शुभदीप सिंह सिद्धू होने के बावजूद भी उन्हें सिद्धू मूसेवाला उनके गांव के नाम ‘मूसा’ से मिला था जो पंजाब के मानसा जिले में स्थित है।
  • कहा जाता है कि उनके पिता ने बताया था की सिद्धू मूसेवाला को उनके बचपन से ही संगीत में बेहद दिलचस्पी रही थी। जिसकी वजह से वह 5वीं कक्षा में थे तभी से उन्होंने पंजाबी लोकगीत गाना शुरू कर दिया था।
  • सिद्धू मूसेवाला ने वर्ष 2015 में सिद्धू अपनी स्नातक की पढ़ाई के दौरान, उन्होंने एक गाने के लिए लोकप्रिय पंजाबी गीतकार से संपर्क किया। लेखक बहाने बनाता रहा और सिद्धू को गीत देने से टाल करता रहा, तब जाकर उन्होंने खुद से गीत लिखना शुरू कर दिया।
  • सिद्धू मूसेवाला अपनी आगे की पढ़ाई के लिए 2016 में कनाडा चले गए जहां उन्होंने पढ़ाई के साथ-साथ गाने भी लिखे।
  • बताया जाता है कि सिद्धू मूसे वाला ‘चन्नी बांका’ को अपना गॉडफादर मानते थे क्योंकि वह चन्नी ही थे, जिन्होंने मूसेवाला को पंजाबी संगीत उद्योग से परिचित कराया था और कनाडा में उनको स्थापित करने में भी उनकी मदद की थी।
  • उन्होंने 2016 में लोकप्रिय गायक- दीप जंदू, एली मंगत और करण औजला के साथ एक गीतकार के रूप में अपना करियर शुरू किया था।
  • सिद्धू मूसे वाला वाला का पहला पंजाबी गीत ‘लाइसेंस’ (एक गीतकार के रूप में), जिसे सिंगर निंजा द्वारा गाया गया था, जो काफी प्रसिद्ध हुआ था।
  • एक गीतकार के अलावा उन्होंने ‘रेंज रोवर’, ‘दुनिया’, ‘जी वैगन’, ‘डार्क लव’, ‘टोचन’, ‘इट्स ऑल अबाउट यू’ आदि जैसे कई सुपरहिट पंजाबी गानों में अपनी आवाज दी है।
  • वर्ष 2017 में उन्होंने अपने गाने ‘जी वैगन’ और ‘सो हाई’ से खूब नाम और प्रसिद्धि अर्जित किया था।
  • सिद्धू मूसेवाला के लगभग 8 गाने आधिकारिक रूप से रिकॉर्ड होने से पहले ही लीक हो गए थे।
  • वर्ष 2018 में उन्होंने विशेष रूप से उनसे नफरत करने वालों के लिए ‘जस्ट लिसन’ गाना जारी किया था।
  • वर्ष 2018 में उन्होंने अपना एल्बम PBX 1 रिलीज किया। इस एल्बम को बिलबोर्ड कैनेडियन एलबम्स के चार्ट पर 66वां स्थान मिला था। इसके बाद उन्होंने अपना इंडिपेंडेंट गाना रिलीज करना शुरू किया।
  • सिद्धू मूसेवाला और करण औजला एक दूसरे के विरोधी थे और दोनों अक्सर विवादों में रहते थे। इसके विपरीत पंजाबी सिंगर परमीश वर्मा और निंजा के साथ उनकी अच्छी दोस्ती थी।
  • वर्ष 2019 में सिद्धू मूसेवाला पंजाब, भारत छोड़कर कनाडा के ब्रैम्पटन में शिफ्ट हो गए थे।
  • सिद्धू मूसेवाला अपने माता-पिता को अपना प्यार जताते हुए “डियर ममा और बापू” नाम के गानों को उनके लिए गाया था।
  • सिद्धू मूसेवाला ने अपने करियर में चार म्यूजिक एल्बम PBX 1 (2018), Snitches Get Stitches (2020), मूसटेप (2021) और No Name (2022) को रिलीज किया था।

बहुत सी बाते है जो सिद्धू मूसे वाला जी की लेकिन आज वो हम सभी के बीच नहीं है । सच में जैसे कोई अपना भाई खोता है वैसे ही हम सबने अपना एक भाई खो दिया है जिसका हमें बेहद ही दुख है लेकिन भगवान की मर्जी के आगे किसी की नहीं चलती हम अपने भाई की याद में 2 मिनट का मौन व्रत रख सकते है और भगवान से यह कह सकते है की भगवान उनकी आत्मा को शांति दे और उनके परिवार वालों को हिम्मत दें। आपको सिद्धू मूसे वाला जी की जानकारी में कुछ कमी नजर आती हो तो जरूर बताएं हम उसे सुधरेंगे और अपडेट भी करेंगे धन्यवाद। सिद्धू मूसे वाला: Sidhu Moose Wala Biography in Hindi

About the author

Hindi Parichay Team

HindiParichay.com पर आपको प्रसिद्ध लोगों की जीवनी (जीवन परिचय), उनके द्वारा अथवा उनके ऊपर लिखी गई कविता एवं अनमोल विचार अथवा भारतीय त्योहारों और अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां पढ़ने को मिलेगी। कोई भी प्रश्न एवं सुझाव के लिए आप हमसे संपर्क करें

Leave a Comment

close
ad banner (1)