Advertisement
Advertisement

बाल दिवस पर 10 वाक्य और निबंध

नमस्कार दोस्तों, 10 Lines on Children’s Day in Hindi के बारे में आज हम बात करेंगे। हम सभी जानते है कि Children’s Day को हिन्दी में बाल दिवस कहा जाता है। बाल दिवस की प्रमुख विशेषता ये है कि इस दिन भारत के प्रथम प्रधानमंत्री प० जवाहर लाल नेहरू जी का जन्म हुआ था जिसे प्रत्येक वर्ष सभी सरकारी संस्थाओं द्वारा मनाया जाता है।

छोटे बच्चे चाचा नेहरू जी को बहुत प्रिय थे। बच्चे पंडित जवाहर लाला नेहरू जी को चाचा जी कह कर बुलाया करते थे। बच्चों में इस दिन को लेकर काफी उत्सुकता रहती है। आज हमारे बीच हमारे प्रिय प्रधानमंत्री जी नहीं है लेकिन आज भी उनकी याद में 14 नवम्बर को प्रत्येक वर्ष उनका जन्मदिन Children’s Day (बाल दिवस) Celebration मनाया जाता है।

10 Lines on Children’s Day in Hindi

बाल दिवस के शुभ अवसर पर बाल, बालिका में काफी उत्सुकता देखने को मिलती है। बाल दिवस के दिन विद्यालयों, कॉलेजों आदि में बाल समारोह आदि देखने को मिलता है। बाल समारोह के दिन बच्चे 10 Lines On Bal Diwas in Hindi, 10 Lines on Childrens Day in Hindi, About Children’s Day in Hindi, आदि जैसे विषय खोजते है। तो दोस्तों मैंने आपकी जरूरतों को समझते हुए आपके लिए Class 1, class 2, class 3, class 4, class 5, class 6, class 7, class 8, class 9, class 10, class 11, class 12 के लिए साथ में सभी कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए 10 Lines On Bal Diwas in Hindi, 10 Lines on Children’s Day in Hindi, About Children’s Day in Hindi, पर कुछ बाल दिवस की महत्वपूर्ण पंक्तियाँ लिखी है।

अन्य महत्वपूर्ण जानकारी: दोस्तों यदि आपको बाल दिवस का इतिहास, बाल दिवस की कहानी, बाल दिवस के दिन क्या हुआ था?, बाल दिवस का निबंध, बाल दिवस पर भाषण, बाल दिवस का महत्व, बाल दिवस क्यों मनाया जाता है?, बाल दिवस के बारे में विस्तार जानकारी आदि जैसे प्रश्न हो तो आप इस लेख से प्राप्त कर सकते है। उम्मीद करता हूँ कि ये सभी लाइन आपके काम आएंगे।


Children’s Day Essay 10 Lines in Hindi

  1. 👉 14 नवम्बर का दिन भारत के लिए बेहद ही खास होता है।
  2. 👉 बाल दिवस की शुरुआत सन् 1959 से शुरू हुई।
  3. 👉 बाल दिवस की शुरुआत के पीछे भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू जी का जन्मदिन है और नेहरू जी का बच्चों से लगाव ही बाल दिवस की स्थापना का कारण है।
  4. 👉 बाल दिवस बच्चों की खुशी उत्साह का दिन होता है। बाल दिवस के अवसर पर विद्यालयों आदि में सांस्कृतिक आयोजन के साथ साथ प्रतियोगिताओं का आयोजन होता है।
  5. 👉 14 नवम्बर के दिन पूजनीय पंडित जवाहर लाल नेहरू जी की याद में उन्हें श्रद्धांजलि दी जाती है और उनके किए हुए संघर्ष उनकी देशभक्ति यात्रा की सीख बच्चों के सामने भाषण के रूप में दी जाती है।
  6. 👉 पंडित जवाहर लाल नेहरू जी बच्चों से बहुत लगाव रखते थे। पंडित जवाहर लाला नेहरू जी ने बहुत से विद्यालय, कॉलेज, अस्पतालों का उद्घाटन किया और बच्चों के सुनहरे भविष्य के लिए बाल मजदूरी जैसी दुविधा का हल निकाला था।
  7. 👉 बाल दिवस के अवसर पर भारत के विद्यालयों में बच्चों द्वारा कई प्रकार के नृत्य, संगीत, कहानी, नाट्य, भाषण, आदि का आयोजन होता है उसके साथ साथ बच्चों की प्रतियोगिता जीते जाने पर ट्रॉफी भी दी जाती है।
  8. 👉 बाल दिवस के दिन विद्यालय में टॉफी, चॉकलेट, लड्डू, फल आदि का वितरण भी किया जाता है।
  9. 👉 बच्चों के लिए बाल दिवस की महत्वता उनके चेहरे की मुस्कान से भी देखी जा सकती है और वैसे भी बच्चों को पूरे साल में एक बार चाचा नेहरू जी की याद में कुछ अलग करने का भाषण बोलने का अवसर प्रदान होता है।
  10. 👉 वैसे तो विश्व सार्वभौमिक बाल दिवस 20 नवम्बर के दिन मनाया जाता जिसकी शुरुआत विश्व में प्रथम बार करीब डेढ़ सौ साल पहले 1857 में एक चर्च में मनाने से शुरुआत की गयी थी।

10 Lines on Bal Diwas in Hindi 2021

ये उन लोगों के लिए है जो बाल दिवस की कुछ पंक्तियों को बच्चों के आगे, अध्यापकों के आगे बाल दिवस के भाषण के रूप में बोलना चाहते है।


Children’s Day Speech in Hindi 2021

नमस्कार, मेरे सभी आदरणीय अध्यापकगण, मेरे सभी प्रिय मित्रों आज बाल दिवस की आप सभी को हार्दिक बधाइयाँ।

आज बाल दिवस के शुभ अवसर पर आप सभी के सामने कुछ पंक्तियाँ बोलने का शुभ अवसर मिला है जिसके लिए आप सभी का दिल से धन्यवाद!

वैसे तो Children’s Day पहली बार 14 जून सन् 1857 के दिन Massachusetts Church में मनाया गया था। बाल दिवस बहुत से देशों में 1 जून के दिन चिल्ड्रंस डे के रूप में मनाया जाता है। इस दिन को लोग International Day for protection of children के नाम से भी जानते हैं। 20 नवम्बर सन् 1959 के दिन संयुक्त राष्ट्र की महासभा ने बच्चों के अधिकारों के घोषणापत्र की मान्यता को जारी किया था उसी दिन से प्रत्येक वर्ष 20 नवम्बर को बाल दिवस की शुरुआत कर दी गयी लेकिन पंडित जवाहर लाल नेहरू जी के जन्मदिन की खुशी में प्रत्येक वर्ष 14 नवम्बर के दिन बाल दिवस की शुरुआत हुई।

आज 2021 में हमारे पूजनीय चाचा नेहरू जी को हमें अलविदा किए 57 साल हो गए है। लेकिन आज भी पंडित जवाहर लाल नेहरू जी हमारे दिलों में जिंदा है। नेहरू जी ने हम सभी बच्चों के भविष्य के लिए बहुत से नियम कानून लागू कराये थे जिसमें बाल मजदूरी भी एक बहुत बड़ा विषय है। जिस उम्र में बच्चों के हाथ में किताब होनी चाहिए उस उम्र में उनके हाथ में चाय की केतली, अखबार, और जूता पॉलिश पाये जाते थे। बच्चों की ये हालत पूजनीय जवाहर लाल नेहरू जी से देखी नहीं गयी और उन्होंने बाल मजदूरी पर रोक लगा दी।

नेहरू जी ने बहुत से विद्यालय, कॉलेजों, अस्पतालों, स्टेडियम, सामाजिक आयोजन NGO, सड़कों आदि का निर्माण कराया है। पंडित जवाहर लाल नेहरू जी का ये उपकार आज भी कोई नहीं भूले से भी नहीं भुला सकता है। नेहरू जी ने भारत की ब्रिटीशियों से आजादी दिलाने के लिए भी बहुत से संघर्ष किए है। उन्होंने बहुत बार करवाव का दुख भी भोगा है। बाल दिवस एक ऐसा दिवस है जिस दिन हम अपने प्यार चाचा नेहरू जी की याद में उन्हें श्रद्धांजलि दी जाती है और छोटे छोटे कार्यक्रम आयोजन आदि किए जाते है। चाचा नेहरू जी हमारे प्रथम प्रधानमंत्री थे और आज भी हम सभी के दिल में जिंदा है वो आज भी हमारे प्रमुख नेता है।

धन्यवाद


बाल दिवस पर निबंध 10 लाइन

बाल दिवस को ही चिल्ड्रेन्स डे कहा जाता है। बाल दिवस के दिन विद्यालयों, कॉलेज, NGO आदि में भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पूजनीय पंडित जवाहर लाल नेहरू जी की याद में गीत संगीत, भाषण आदि का समारोह, नाट्य समारोह आदि करते है। बाल दिवस दरअसल 20 नवम्बर को मनाया जाता था लेकिन 14 नवम्बर को पंडित जवाहर लाल नेहरू जी का जन्मदिन होने की वजह से इसकी तारीख 14 नवम्बर उनके जन्मदिन के दिन की कर दी गयी थी।

नेहरू जी ने बहुत से उपकार किए है हम सभी पर जिनको कभी नहीं भुलाया जा सकता है। नेहरू जी ने बहुत से अस्पताल, कॉलेज, NGO खोले थे जिनसे आज भी हम सभी लोगों को सेवा मिल रही है। नेहरू जी का बच्चों से बहुत लगाव था जिसके कारण प्रत्येक वर्ष 14 नवम्बर को बाल दिवस मनाया जाता है।

बाल दिवस के दिन 14 नवम्बर पर निबंध लेख व बाल दिवस की महत्वपूर्ण पंक्तियाँ बोली जाती है। बाल दिवस के दिन हमारे पूजनीय जवाहर लाल नेहरू जी का जन्मदिन मनाया जाता है और उनकी याद में सभी नए युवकों को उनके बारे में बताया जाता है जिन्हें सम्पूर्ण जानकारी नहीं है वो बाल दिवस के दिन बाल दिवस के भाषण को सुन कर काफी अच्छी जानकारी प्राप्त कर सकते है।


Few Lines on Children’s Day in Hindi 2021 (Few Lines on Bal Diwas in Hindi 2021)

  1. 👉 प्रत्येक वर्ष 14 नवम्बर का दिन बाल दिवस का दिन कहलाता है।
  2. 👉 बाल दिवस की शुरुआत सन् 1959 से शुरू हुई।
  3. 👉 बाल दिवस की शुरुआत के पीछे भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू जी का जन्मदिन है।
  4. 👉 बाल दिवस के दिन बच्चों की खुशी का उत्साह का दिन होता है। बाल दिवस के अवसर पर स्कूल आदि में सांस्कृतिक आयोजन के साथ-साथ प्रतियोगिताओं का आयोजन होता है।
  5. 👉 14 नवम्बर के दिन पूजनीय पंडित जवाहर लाल नेहरू जी की याद में उन्हें श्रद्धांजलि दी जाती है और उनके किए हुए संघर्ष उनकी देशभक्ति यात्रा की सीख बच्चों के सामने भाषण के रूप में दी जाती है।
  6. 👉 पंडित जवाहर लाल नेहरू जी बच्चों से बहुत लगाव रखते थे। पंडित जवाहर लाला नेहरू जी ने बहुत से स्कूल, कॉलेज, अस्पतालों, NGO का उद्घाटन किया था और बच्चों के सुनहरे भविष्य के लिए बाल मजदूरी जैसी दुविधा का हल निकाला था।
  7. 👉 बाल दिवस के अवसर पर भारत के स्कूल में बच्चों द्वारा अनेकों प्रकार के नृत्य संगीत, कहानियाँ, नाट्य, भाषण, आदि का आयोजन होता है उसके साथ साथ बच्चों की प्रतियोगिता जीते जाने पर ट्रॉफी भी दी जाती है।
  8. 👉 बाल दिवस के दिन स्कूल में टॉफी, चॉकलेट, लड्डू, फल आदि का वितरण भी किया जाता है।
  9. 👉 बच्चों के लिए बाल दिवस की महत्वता उनके चेहरे की मुस्कान से भी देखी जा सकती है और वैसे भी बच्चों को पूरे साल में एक बार चाचा नेहरू जी की याद में कुछ अलग करने का भाषण बोलने का अवसर प्रदान होता है।
  10. 👉 वैसे तो विश्व सार्वभौमिक बाल दिवस 20 नवंबर के दिन मनाया जाता है जिसकी शुरुआत विश्व में प्रथम बार करीब डेढ़ सौ साल पहले 1857 में एक चर्च में मनाने से शुरुआत की गयी थी।

Children’s Day Essay in Hindi 2021 | 10 Lines on Essay Children’s Day in Hindi 2021

नमस्कार मेरे सभी आदरणीय अध्यापक गण, अध्यापिका व मेरे प्रिय सहपाठियों आप सभी को बाल दिवस और हमारे पूजनीय भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू जी के जन्मदिन के शुभ अवसर की आप सभी को ढेर सारी बधाइयाँ।

Children’s Day पहली बार सन् 1857 में 14 जून 1857 को दूसरे रविवार के दिन Massachusetts Church में मनाया गया था। बहुत से देशों में 1 जून का दिन बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिन को हम सभी International Day For Protection of Childrens Day के नाम से भी जाना जाता है।

भारत में children’s Day को बाल दिवस कहा जाता है। भारत में बाल दिवस पहली बार 20 नवम्बर 1959 को मनाया गया लेकिन चाचा नेहरू जी के जन्मदिन की खुशी में और उन्हे द्वारा अच्छे काम को देखते हुए ये बाल दिवस 14 नवम्बर को मनाया जाने लगा है।

जवाहर लाल नेहरू जी की मृत्यु 27 मई 1964 को हुई थी और उनकी मृत्यु के बाद देश भर शोक में डूब गया था। जिसकी वजह से प्रत्येक वर्ष 14 नवम्बर 1964 को बाल दिवस का दिन मनाया जाने लगा।

बाल दिवस के दिन स्कूल कॉलेजों आदि में जवाहर लाला नेहरू जी के जन्मदिन की खुशी में उनके द्वारा किए गए भारत के लिए संघर्षों, भारत के लिए किए गए उपकारों, बच्चों के भविष्य के लिए उठाए गए कदमों को याद किया जाता है। बाल दिवस के दिन गरीब बच्चों, अनाथ बच्चों को कपड़े, किताबें, मिठाइयाँ खाना जरूरत के समान आदि का वितरण किया जाता है। नेहरू जी कहा करते थे कि आज के बच्चे कल का सुनहरा भविष्य है इसलिए उनकी शिक्षा आदि पर खास ध्यान देना चाहिए।


बाल दिवस का इतिहास क्या है?

27 मई 1964 को पंडित जवाहर लाल नेहरू जी की मृत्यु के बाद जब भारत पूरी तरह से शौक में था तब 14 नवम्बर 1964 को पूजनीय जवाहर लाल नेहरू जी के जन्मदिन को ही बाल दिवस के रूप में मनाया जाने लगा। दरअसल बाल दिवस की शुरुआत पहली बार 14 जून 1857 दूसरे रविवार के दिन मनाया गया था। सभी देशों में बाल दिवस को अलग अलग तरीकों पर मनाया जाता है। बाल दिवस को भारत में सबसे पहले 20 नवम्बर 1954 को मनाया गया था जिसके बाद ये प्रत्येक वर्ष मनाया जाने लगा।

निष्कर्ष

बाल दिवस से संबंधित सवालों के जवाब आपको मिल ही गए है। आपको बाल दिवस की ये सभी जानकारी अच्छी लगी हो तो जरूर आगे share कीजिएगा। 10 Lines on Children’s Day in Hindi के साथ साथ बाल दिवस की ढेर सारी बधाइयाँ। आप हमारे इस लेख को Facebook, Whatsapp, Instagram आदि के जरिये जरूर साझा करें। धन्यवाद!

Recent Articles

Related Stories

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here