उद्योगपति

भारत के सबसे धनी व्यक्ति मुकेश अंबानी का इतिहास और उनकी जीवनी

मुकेश अंबानी का इतिहास व जीवन परिचय

» मुकेश अंबानी का इतिहास «

नाम :मुकेश अंबानी
जन्म :19 अप्रैल 1957 (यमन)
घर :मुंबई, महाराष्ट्र, भारत
राष्ट्रीयता :भारतीय
शिक्षा :रासायनिक प्रोद्योगिकी संस्थान वन विद्यालय (वलथमस्टोव), स्टैनफोर्ड विश्विधालय (बंद)
काम काज :रिलायंस के अध्यक्ष
पत्नी का नाम :श्री मति नीता अम्बानी जी
बच्चों का नाम :आकाश अम्बानी, अनंत अम्बानी, ईशा अम्बानी
माता-पिता :श्रीमती कोकिलाबेन अम्बानी और स्वर्गीय श्री धीरू भाई अम्बानी जी
भाई का नाम :श्री अनिल अम्बानी जी

मुकेश अंबानी का इतिहास – मुकेश अंबानी की शिक्षा

“अबाय मोरिस्चा स्कुल मुंबई” में मुकेश अम्बानी की स्कूली शिक्षा पूरी हुई और कैमिकल इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री उन्होंने UDCT से प्राप्त की है| बाद में मुकेष जी ने एमबीए करने के लिए स्टैनफोर्ड विश्विधालय ज्वाइन किया और किसी कारण पहले वर्ष के बाद ही उन्होंने पाड़ाई छोड़ दी.

मुकेश अंबानी का व्यावसायिक जीवन और करियर – मुकेश अंबानी का जीवन परिचय

Mukesh Ambani History in Hindi

मुकेश अंबानी को भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में सब जानते है वे एक मशहूर व्यावसायी है जिनसे दुनिया का हर व्यवसायी मिलना चाहेगा और उनसे व्यावसाय करने का तरीका सीखना चाहेगा| उनका नाम किताबों में विश्व के माने जाने मशहूर व्यवसायीयों में से हैं.

सन् 1980 में, इंदिरा गाँधी की भारतीय सरकार ने PFY (Polyester Fiament Yarn) की शुरुआत की जिसके चलते निजी क्षेत्र विकसित हो सके और तभी धीरू भाई ने लाइसेंस के लिए आवेदन किया और वे एक PFY प्लांट क़ानूनी तौर पर खोल.

टाटा, बिरला और 43 दूसरी कंपनियों से कड़ी टक्कर के बावजूद वह लाइसेंस धीरू भाई को दिया गया.

अपने PFY प्लांट को बढाने में धीरू भाई को किसी और की भी जरूरत लगी और फिर क्या था उन्होंने अपने बेटे को यानी मुकेश अम्बानी को जब वह Stanford University में पढ़ रहे थे तभी उनको वहां से बुला लिया| बाद में मुकेश जी ने रिलायंस Poleyester में काम करना बंद कर दिया और केवल 1981 में रिलायंस पेट्रोरसायन को शुरू किया.

सन् 1981 में रिलायंस में काम संभाला और रिलायंस के पुराने टेक्सटाइल कारोबार को पॉलिएस्टर फाइबर और फिर पेट्रोकेमिकल में आगे बढाया और मुकेश अंबानी ने बाद में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Reliance Industries Limited) का साम्राज्य स्थापित किया.

इस कंपनी का काम भारत में जानकारी और आपसी संपर्क तंत्रज्ञान क्षेत्र में काम करना था जिससे लोग आपस में दूर रहते हुए भी जुड़े हुए रहे आपस में बातें कर सके.

मुकेश अंबानी ने फिर पीछे नहीं देखा बस आगे ही बढ़ते गए| वैसे मै आपको बता दूँ की मुकेश अम्बानी की आदत है की वो कभी पीछे मुड कर नहीं देखते बस जो होगा वो होके रहेगा ये जानते है| शायद इसी वजह से वे आज मशहूर व्यावसायी है.

मुकेश अंबानी ने आगे बढते गए और दुनिया का सबसे बड़ा पेट्रोलियम रिफायनरी, जामनगर, भारत में बनाया जो 660000 बैरल प्रति दिन भरने की क्षमता रखता है, जो 2010 में भारत की सबसे ज्यादा प्रचलीत पेट्रोलियम क्षेत्र और पावर जनरेशन के मामले में उच्च स्तर की इंडस्ट्री थी.

दोनों भाई मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी में अलगाव हुआ और अनिल अंबानी को रिलायंस इन्फोकॉम का समूह मिला.

वैसे अगर दोनों भाइयों के बिच ये अलगाव न हुआ होता तो उनकी कुल संपत्ति 85 बिलियन डॉलर होती और धरती पर सबसे ज्यादा धनी व्यक्ति होते.

अनिल अंबानी ने सहायक कंपनी (subsidiary) रिलायंस रीटेल के साथ खुदरा बाजार में प्रवेश किया और रिलायंस रिटेल नें डीलाइट स्टोर की नयी चेन भी लांच की और नोवा केमिकल्स के साथ रिलायंस रिटेल को ऊर्जा सक्षम बनने हेतु इस आशय भी किया.

हाल ही में 18 जून 2014 को मुकेश अंबानी रिलायंस की 40वी साल की जनरल मीटिंग रखी और कहा की आने वाले तीन सालों में 1.8 ट्रिलियन रूपये अलग-अलग व्यवसाय में लगायेंगे.

शायद इसीलिए उन्होंने 2015 में 4G सेवाएं भी लागू की है उन्होंने कहा है की अब इन्टरनेट का पूरा फायदा उठाया जा सकेगा| युवाओं के लिए बहुत अच्छा मोका है और देश डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) की तरफ भी आकर्षित होगा.

मुकेश अम्बानी के परिवार सदस्य – Mukesh Ambani Biography in Hindi

Mukesh Ambani Biography in Hindi

मुकेश अंबानी जी भारत के सबसे बड़े उद्योगपति धीरू भाई अंबानी जी के बेटे है| धीरू भाई अंबानी भारतीय उधमी है और रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक भी है और रिलायंस इंडस्ट्रीज के संस्थापक भी है.

अनिल अंबानी धीरूभाई अंबानी समूह (Anil Dhirubhai Ambaani Group) के मुख्य है और इस समूह में दूर संचार, बिजली, प्राक्रतिक संसाधनों, बुनियादी सेवाओं और वित्तीय सेवाओं आदि जैसे क्षेत्र में काम करता है.

पिता के जाने के बाद दोनों भाइयों में अति प्रचारित कहा सुनी हुई और अंत में दोनों भाइयों ने अपने अपने रास्ते अलग-अलग कर लिए और रिलायंस समूह दो भागों में विभाजित हो गया.

मुकेश अंबानी की पत्नी श्रीमती नीता अंबानी रिलायंस इंडस्ट्रीज के सामाजिक एवं धर्मार्थ कार्यों को देखती है और उनके तीन बच्चे है-

  1. आकश
  2. ईशा
  3. अनंत

मुकेश अंबानी का घर दुनिया का सबसे महंगा घर है और इसकी कीमत करीब 2 अरब डॉलर आंकी गयी है| मुंबई के व्यापारिक क्षेत्र में यह करीब 27 फ्लोर का 60 मंजिला स्काई स्क्रेपर है और अभी एनिटीलिया घर बना हुआ है जिस घर में वो रह रहे है.

मुकेश अम्बानी को प्राप्त उपलब्धियां – मुकेश अंबानी का इतिहास

  1. ऍन डी टी वी द्वारा कराए गए सार्वजानिक चुनाव में साल 2007 के बिज़नसमैन ऑफ़ द इयर चुने गए.
  2. यूनाइटेड स्टेट्स-इण्डिया बिज़नस कौंसिल (USIBC) ने वाशिंगटन में 2007 में “ग्लोबल विजन” के लिए लीडरशिप अवार्ड दिया.
  3. विश्व के सबसे सम्मानित बिजनस लीडरों में 42वां स्थान हासिल किया| प्राइस वाटर हाउस कूपर्स द्वारा कराए गए एवं फाइनेंशियल टाइम्स, लन्दन में नवम्बर में प्रकाशित सर्वे में मुकेश अंबानी को चार सीईओ में दुसरा स्थान मिला.
  4. अक्टूबर 2004 में टोटल टेलिकॉम ने दूरसंचार के क्षेत्र में सबसे प्रभावशाली व्यक्ति के तौर पर मुकेश अंबानी को वर्ल्ड कम्युनिकेशन अवार्ड दिया.
  5. वोइस एंड डाटा पत्रिका ने सितम्बर 2004 में मेन ऑफ़ थे इयर चुना मुकेश अम्बानी जी को.
  6. फार्च्यून पत्रिका के अगस्त 2004 में आंका की सबसे शक्तिशाली कारोबारियों की ऐशिया पॉवर 25 सूचि में मुकेश जी को 13वां स्थान दिया गया.
  7. एशिया सोसाइटी, वाशिंगटन डी सी द्वारा एशिया सोसाइटी लीडरशिप अवार्ड प्रदान किया गया| संयुक्त राज्य अमरीका मई 2004 .
  8. मार्च 2004 में इण्डिया टुडे द पॉवर लिस्ट 2004 में लगातार दुसरे साल में पहला स्थान हासिल किया.
  9. सन् 2007 में गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी जो की भारत के प्रधानमंत्री बन चुके हैं उनके हाथों “चित्रलेखा पर्सन ऑफ़ द इयर 2007” पुरस्कार दिया गया|
Reliance Jio की नीति – Mukesh Ambani Jio News in Hindi

Mukesh Ambani Jio News in Hindi

मुकेश अंबानी ने रिलायंस की मह्त्वकंशी जिओ प्रोजेक्ट पर काम कर चुके है और लगभग हर भारतीय 4G नेटवर्क का प्रयोग कर रहा है.

जिओ 05 सितम्बर 2016 को लांच हुआ और जिसकी सर्विसेस शुरुआत में यानी 05 सितम्बर 2016 से 31 दिसम्बर 2016 तक बिलकुल मुफ्त थी और फिर ये मुफ्त सेव बड़ा कर 31 मार्च 2017 तक कर दी है और समय के अनुसार जिओ में सेवा के मूल्य को लेकर उतार चडाव रहेंगे जिसकी कोई पककी खबर नहीं है.

JIO को लांच करते हुए मुकेश अम्बानी ने कहा

आज कल के जमाने में भारतीय युवा दुनिया में पीछे नहीं रह सकते है और उन्हें अच्छा वातावरण दे कर देखों, वे आपको सरप्राइज कर देंगे और आगे जिओ के होने से मुकेश अंबानी कहते है.

अब जिओ डिजिटल लाइफ और करों दादा गिरी!

जिओ के डायरेक्टर मुकेश अंबानी जी के पुत्र आकाश अंबानी और पुत्री ईशा अंबानी है.

दोस्तों यदि आपको मुकेश अंबानी का इतिहास पढ़ कर अच्छा लगा हो तो अपने मित्रो परिवार आदि में शेयर करना न भूले| 4G का जमाना है 2 सेकंड लगते हैं आपके शेयर से हमें आगे और प्रसिद्ध लोगों की जीवनियाँ लिखने में शक्ति मिलेगी.

मुकेश अंबानी की जीवनी में कुछ ऐसा हो जो उपर लिखा न हो और बताना जरुरी हो तो कृपया करके हमें कमेंट बॉक्स में लिख कर भेजें.

भारतीय अभिनेता/अभिनेत्री

क्रिकेट

About the author

Hindi Parichay Team

हमारी इस वेबसाइट को पड़ने पर आप सभी का दिल से धन्यवाद, हमारी इस वेबसाइट में आपको दुनिया भर के प्रशिद्ध लोगों की जानकारी मिलेगी और यदि आपको किसी स्पेशल व्यक्ति की जानकारी चाहिए और किसी कारण वो हमारी वेबसाइट पे न मिले तो कमेंट बॉक्स में लिख दें हम जल्द से जल्द आपको जानकारी देंगे|

1 Comment

Leave a Comment